सपा में सेंध लगाने के बावजूद, सोशल मीडिया पर अपने ही नेताओं का शिकार हो रही भाजपा

उत्तर प्रदेश में जारी सियासी घमासान के बीच सोशल मीडिया सबसे बड़ा अखाड़ा बना हुआ है। दावों और वादों के अलावा दल बदलने का सिलसिला लगातार जारी है। प्रचार-प्रसार से लेकर सच-झूठ के खेल तक, राजनेताओं और कार्यकर्ताओं की सोशल मीडिया पोस्ट भी खूब वायरल हो रही हैं। भाजपा का कैंपेन सांग “वचन दिया है, मां धरती को, वचन दिया है यूपी को…” भगवा ब्रिगेड में खूब पसंद किया जा रहा है। हालांकि, यूपी बीजेपी ने इसे अपने आधिकारिक Koo अकाउंट से शेयर किया है, जिसपर एक यूजर ने बीजेपी के क्रिएटिव पर अपर्णा यादव की तस्वीर के साथ, ‘सुरक्षा जहां-बेटियां वहां’ का तंज कसते हुए, सपा को घेरने की कोशिश भी की है।

दूसरी तरफ, दल-बदल की नीति के तहत प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रखर सिंह के भाजपा में शामिल होने की ख़बरों ने भी खूब सुर्खियां बंटोरी। हालांकि, उन्होंने सोशल मीडिया पर इस बात का खंडन करते हुए एक आधिकारिक पत्र शेयर किया। इसमें उन्होंने लिखा, लक्ष्मीकांत बाजपेयी जी के इस दावे में कोई सच्चाई नहीं है कि मैं भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने जा रहा हूँ। यह दावा पूर्णयता निराधार और तथ्यहीन है। सिंह ने साफ़ किया कि वह समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन की सरकार ही बनाएंगे।

वहीं, भाजपा के लिए खुद उनके ही पूर्व नेता-मंत्री सिरदर्द बने हुए हैं। योगी सरकार में पूर्व कैबिनेट मंत्री रहे ओम प्रकाश राजभर सपा का सुर अलापते हुए #युवाओंकाइंकलाब_होगा #22 में बदलाव होगा हैशटैग को खूब प्रमोट करते नजर आ रहे हैं। सुभासपा पार्टी चीफ राजभर ने अपनी पोस्ट में योगी सरकार के पेपर लीक मामले का जिक्र करते हुए, युवाओं के नए भविष्य की शुरुआत की बात की है। इस पर एक यूजर ने लिखा है कि जो राम को लाएं हैं हम उनको लाएंगे।

बता दें कि वर्चुअल रैलियों के साथ, सोशल मीडिया जंग के मैदान में तब्दील हो चुका है। यहां बागी नेता-मंत्रियों के बगावती सुर जमकर सामने आ रहे हैं। अंतिम निर्णय तो 10 मार्च को जरूर होगा, लेकिन सोशल मीडिया में सरकारों का गठन पहले ही किया चुका है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper