सपा विधायक ने एसएमए से पीड़ित बच्चे के लिए दिए 21 लाख रुपये

लखनऊ । अमेठी के गौरीगंज से समाजवादी पार्टी के विधायक राकेश प्रताप सिंह ने टाइप 1 स्पाइनल मस्कुलर एट्रोफी (एसएमए) से पीड़ित सात महीने के बच्चे के इलाज के लिए 21 लाख रुपये दिए हैं। बच्चा अन्मय सुल्तानपुर का रहने वाला है।

विधायक राकेश प्रताप सिंह ने कहा कि इस योगदान के अलावा वह अपने दोस्तों और सहकर्मियों से भी बच्चे के इलाज में मदद करने का अनुरोध करेंगे। अन्मय के पिता सुमित कुमार सिंह ने बताया, “अगले कुछ दिनों में हमें अपने बेटे के आगे के इलाज के लिए 16 करोड़ रुपये और चाहिए। कोई भी योगदान बहुत मददगार होगा, क्योंकि मेरी सारी बचत खत्म हो गई है।”

अभिनेता सोनू सूद ने भी बच्चे के इलाज में मदद करने के लिए एक वीडियो अपील जारी की।अन्मय को एक महीने से अधिक समय पहले इस बीमारी का पता चला था। इस बीमारी के लक्षण 6 महीने में ही आने लगते हैं और अगर इलाज न दिया जाए तो 2 साल के अंदर बच्चे की मौत हो जाती है।

उसे ठीक करने के लिए आवश्यक इंजेक्शन अमेरिका से खरीदना पड़ता है और परिवार को अब तक विभिन्न व्यक्तियों और संगठनों से एक करोड़ रुपये से अधिक प्राप्त हुए हैं।अन्मय के पिता सुमित कुमार सिंह बैंक कर्मचारी हैं, जबकि उनकी मां अंकिता सिंह गृहिणी हैं। अन्मय की एक 5 साल की बहन है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper