समस्त तहसीलों तथा विकास खण्डों में कैम्प लगाकर श्रमिकों का अधिक से अधिक गोल्डन कार्ड बनाया जाए : मुख्य विकास अधिकारी

बरेली: मुख्य विकास अधिकारी श्री जग प्रवेश ने उप श्रमायुक्त को निर्देश दिए कि श्रमिकों के लिए आयुष्मान गोल्डन कार्ड समस्त तहसीलों तथा विकास खण्डों में कैम्प लगाकर श्रमिकों का अधिक से अधिक गोल्डन कार्ड बनाया जाए। उन्होंने यह भी कहा कि इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता न बरती जाए।

मुख्य विकास अधिकारी कल कलेक्ट्रेट सभागार में श्रम विभाग के अंतर्गत पंजीकृत निर्माण श्रमिकों के गोल्डन कार्ड बनाए जाने के संबंध में बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। बैठक में उप श्रम आयुक्त श्री दिव्य प्रताप सिंह, उप जिलाधिकारी फरीदपुर, नवाबगंज, आंवला, मीरगंज, मीरगंज, तहसीलदार सदर सहित अन्य सम्बंधित उपस्थित रहे।

मुख्य विकास अधिकारी श्री जग प्रवेश ने समस्त सीएससी, स्वास्थ्य विभाग, कोटेदारों से कहा कि आयुष्मान गोल्डन कार्ड बनवाने में सहभागिता की जाए। उन्होंने समस्त उप जिलाधिकारी को निर्देश दिए कि समस्त प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों के साथ बैठक कर योजना को प्रभावी ढंग से लागू किया जाए। उन्होंने जिला पूर्ति विभाग को निर्देश दिए कि अपने राशन के डीलर/कोटेदारों के माध्यम से गोल्डन कार्ड भी बनाए जाएं।

उन्होंने नोडल अधिकारी स्वास्थ्य को निर्देश दिए कि एक्सेल फाइल में दैनिक रिपोर्ट एमओआईसी के माध्यम से जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी एवं श्रम विभाग को उपलब्ध कराई जाए। मुख्य विकास अधिकारी को उप श्रम आयुक्त ने अवगत कराया कि आयुष्मान गोल्डन कार्ड बनाने का अभियान 25 जुलाई से 14 अगस्त, 2022 तक चलाया जा रहा है। जनपद बरेली का पंजीकृत श्रमिकों के गोल्डन कार्ड बनाने का लक्ष्य 148413 रखा गया है।

बरेली से ए सी सक्सेना की रिपोर्ट

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper