समाज को शर्मसार करने वाली घटना, महिला के मुंह पर थूका, निर्वस्त्र करने की कोशिश

उदयपुर: हाल ही में जोधपुर पंचों के फैसले से परेशान सीए छात्रा के आत्महत्या का प्रयास करने के बाद अब उदयपुर में ऐसा ही मामला सामने आया है। यहां एक परिवार के लोगों ने सभ्यजनों की मौजूदगी में पहले तो विवाहिता का घूंघट हटाकर उसके मुंह पर थूका फिर उसे निर्वस्त्र करने का प्रयास किया। इस घटना का वीडियो वायरल होने के बाद विवाहिता ने आत्महत्या का प्रयास किया। मां-बाप ने उसे संभालते हुए कानून की मदद ली। उदयपुर एसपी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए आरोपियों के विरुद्ध अंबामाता थाना पुलिस को मामला दर्ज करने का आदेश दिया। घटना अंबामाता क्षेत्र के धार्मिक स्थल की है। गत 11 अक्टूबर को हुए इस घटनाक्रम की पुलिस ने पीड़िता से रिपोर्ट लेकर जनता मार्ग कालका माता चौक खटीकवाड़ा निवासी किशनलाल चौहान, उसकी पत्नी मीरा, पुत्री दीपिका, ज्योति तथा पुत्र विशु व कुलदीप के खिलाफ मामला दर्ज किया।

बवासीर का सिर्फ 1 अचूक इलाज, तुरंत जानिए

प्रारंभिक जांच में घटनाक्रम में पैसों के लेन-देन एवं सोशल मीडिया पर कमेंट का मामला सामने आया है। पुलिस के अनुसार पीड़िता ने दर्ज रिपोर्ट में बताया कि उसके पति ने कुलदीप चौहान को 18 दिसम्बर 2015 को ढाई लाख रपए उधार दिए थे। वह भुगतान के लिए बार-बार टालता रहा। मामले में उसके पति व कुलदीप के बीच कहासुनी के बाद आरोपियों के घर की महिला को लेकर सोशल मीडिया पर कमेंट किए गए। इस पर उसके पति के विरुद्ध कुलदीप ने सूरजपोल थाने में रिपोर्ट दे दी। पुलिस ने उसके पति को शांतिभंग में गिरफ्तार कर लिया। इस घटनाक्रम के बाद कुलदीप व उसके परिवार वालों ने पैसा लौटाने व राजीनामा का बहाना कर पीड़िता व उसके पति को समाज के एक धार्मिक स्थल पर बुलाकर बेइज्जत किया। पीड़िता का कहना है कि किशनलाल व मीरा ने जबरन उसका घूंघट हटाया। कई लोगों की मौजूदगी में मीरा व दीपिका ने उसके मुंह पर थूका। कुलदीप व विशु ने वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया।

आरोपियों ने उसकी साड़ी खींचते हुए निर्वस्त्र करने की कोशिश की तथा अभद्र भाषा का प्रयोग किया। इसके बाद पांच सौ रपए के स्टाम्प पर माफीनामा लिखवाते हुए उसके व पति के जबरन हस्ताक्षर कराए। दस लाख रपए लेने व झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी दी। पीड़िता का आरोप है कि 20 अक्टूबर को आरोपी ने घर के बाहर आकर अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए स्टाम्प पर लिखा-पढ़ी बताकर 10 लाख रपए की मांग की। पुलिस ने मौके पर मौजूद तीन पंचों के बयान लिये हैं। पंचों ने बताया कि आरोपी व पीड़ित पक्ष आपस में रिश्तेदार हैं। आरोपियों ने पीड़िता का घूंघट हटाकर उस पर थूका व साड़ी भी खींची। गलत तरीके से स्टांप पर लिखा-पढ़ी की, उस पर उन्होंने हस्ताक्षर नहीं किए। पुलिस ने पंचों के अलावा पीड़िता व उसके सास-ससुर के साथ ही कुछ अन्य लोगों के भी बयान लिये हैं। अब शीघ्र ही पीड़िता के कोर्ट में 164 के बयान कराए जाएंगे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper