सरकार का प्रयास, प्रकृति के साथ छेड़छाड़ किये बगैर हो उद्योगों की स्थापना: पचौरी

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग मंत्री सत्येदव पचौरी ने शुक्रवार को कहा कि सरकार प्रत्येक जनपद में एक बड़ा उद्योग लगायेगी। मंत्री ने बताया कि एक जिला एक उत्पाद के तहत चयनित जिलों में उस जिले से संबंधित उद्योग लगाये जायेंगे। वह कैसरबाग स्थित जिला उद्योग केन्द्र में पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे।

सत्यदेव पचौरी ने कहा कि सरकार गंगा के प्रदूषण को भी समाप्त करेगी। सरकार का प्रयास है कि प्रकृति के साथ छेड़छाड़ किये बगैर उद्योगों की स्थापना हो। इसके लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है। उद्यमियों को उद्योग स्थापना के लिए काफी सहूलियतें प्रदेश सरकार उपलब्ध करा रही है। 70 वर्ष में पहली बार सरकार उद्यमियों को पूछ रही है। सरकार के प्रतिनिधि खुद उद्योग लगाने वाले के पास खुद जा रहे हैं। अभी तक यह लोग चक्कर काटते रहते थे।

पचौरी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में बन्द व अक्रियाशील पड़े राजकीय प्रसार एवं प्रशिक्षण केन्द्रों और राजकीय पायलट वर्कशाप केन्द्रों को एस्पायर योजना के तहत पीपीपी मोड से संचालित कराया जायेगा। मंत्री ने कहा कि एक जनपद एक उत्पाद योजना की समिट का आयोजन जुलाई में प्रस्तावित किया गया है। इस समिट में एक जनपद एक उत्पाद योजना में चयनित उत्पादों के 200 स्टाल लगाये जायेंगे। इसमें शामिल होन के लिए प्रत्येक जनपद से 35 सीटर एसी बस लायी जायेगी। जिसमें 30 लाभार्थी, दो होमगार्ड तथा 02 जिला उद्योग एवं उद्यम प्रोत्साहन केन्द्र का स्टाफ तथा एक पैरामेडिकल कर्मचारी होगा।

मंत्री ने विभागीय अधिकारियों की बैठक लेते हुए कहा कि हस्तशिल्प विपणन प्रोत्साहन योजना में बजट का सदुपयोग कम हुआ है। प्रत्येक जनपद अधिक से अधिक बजट का सदुपयोग करे और अधिक से अधिक उद्यमियों को मेलों में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करे। वहीं हस्तशिल्पियों के कौशल विकास के प्रशिक्षण की उपलब्धि असंतोषजनक पायी गयी। पचौरी ने कहा कि मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के तहत एक जनपद एक उत्पाद योजना के आवेदकों को प्राथमिकता दी जायेगी। इस योजना के तहत प्रत्येक दशा में समस्त जनपद सितम्बर 2018 तक 100 प्रतिशत मार्जिन जारी करना सुनिश्चित करें।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper