सर्बियाई राष्ट्रपति ने ट्विटर को दी चुनौती: ट्रंप की तरह जरा मेरा अकाउंट डिलीट करके तो देखो

नई दिल्ली: सर्बिया के राष्ट्रपति अलेक्जेंडर वूसिक ने मंगलवार को ट्विटर को डोनाल्ड ट्रम्प की तरह अपने अकॉउंट को बंद करने की चुनौती दे डाली। गौरतलब है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ ऐसा ही हुआ था जब उनके नियंत्रण में कई मीडिया आउटलेट्स को सोशल मीडिया साइट द्वारा राज्य-संबद्ध करार दिया गया था। वूसिक ने कहा, “मैं उनके (ट्विटर) द्वारा अपना खाता बंद करने का इंतजार नहीं कर सकता, ताकि मैं दुनिया में एक और ट्रम्प बन जाऊं। ट्विटर ने जनवरी में पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति के खाते को हटा दिया क्योंकि राष्ट्रपति चुनाव हारने के बाद उनके समर्थकों ने6 जनवरी को यूएस कैपिटल पर धावा बोल दिया था।

ट्विटर ने राज्य-संबद्ध मीडिया को “आउटलेट के रूप में परिभाषित किया है जहां राज्य वित्तीय संसाधनों, प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष राजनीतिक दबाव, और उत्पादन और वितरण पर नियंत्रण के माध्यम से कंटेंट पर कंट्रोल रखा जाता है।” वुसिक ने पूछा “उन्हें किसके साथ सहयोग करना चाहिए, टाइकून, चोर और अपराधी?”। “यह सबसे सामान्य है कि वे सरकार के साथ सहयोग करते हैं।” उन्होंने कहा कि ट्विटर लेबल “सेंसरशिप” के अलावा और कुछ नहीं है।

सर्बियन मीडिया पर वुसिक की पकड़
पूर्व अल्ट्रानेशनलिस्ट, वूसिक ने 10 साल पहले सत्ता में आने के बाद से सर्बिया के मास मीडिया पर कड़ी पकड़ बना रखी है। स्टेट टीवी सहित सर्बिया के सरकार समर्थक आउटलेट, सर्बिया में बची खुची स्वतंत्र मीडिया को खत्म करने में लगे रहते हैं और दावा करते हैं कि वे भ्रष्ट विपक्षी आंकड़ों या पश्चिमी दूतावासों द्वारा नियंत्रित हैं। वुसिक ने उन सभी मीडिया संस्थानों को बधाई दी जिन्होंने अपने खातों पर इस तरह का ट्विटर लेबल प्राप्त किया है और कहा है कि वे “स्वतंत्रता-प्रेमी विचारों को फैला रहे हैं।” सर्बिया के अलावा, ये लेबल अमेरिका, चीन, फ्रांस, रूस, जर्मनी, इटली, जापान, सऊदी अरब, स्पेन, तुर्की और संयुक्त अरब अमीरात सहित दुनिया भर के कई ट्विटर खातों पर भी दिखाई देते हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper