सशक्त भारत के लिए स्वस्थ्य भारत और स्वस्थ्य भारत होने के लिए आंगनबाड़ी केन्द्रों को सशक्त होना पड़ेगा: जिलाधिकारी

 

लखनऊ: कल राष्ट्रीय पोषण मिशन के तहत पोषण माह अभियान को सफल बनाने के लिए कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक हुई। बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. बलवीर सिंह, अपर जिलाधिकारी प्रशासन श्रीमती ऋतु पुनिया, समस्त उप जिलाधिकारी, जिला सूचना अधिकारी सहित अन्य सम्बंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

जिलाधिकारी शिवाकान्त द्विवेदी ने कहा कि राष्ट्रीय पोषण मिशन के तहत पोषण माह अभियान 1 से 30 सितंबर, 2022 तक चलेगा, इसके उददेश्य हेतू कुपोषित बच्चों एवं महिलाओं को उचित आहार देने के लिए हर संभव इंतजाम किया जाएगा। जिलाधिकारी ने कहा कि कुपोषण को दूर करने के लिए गांव से लेकर शहर तक विशेष अभियान चलाया जा रहा है। जिलाधिकारी ने कहा कि कुपोषण से लड़ने के लिए ग्राम पंचायत, ग्राम विकास, शिक्षा और स्वास्थ्य विभाग का सहयोग लिया जाए और बच्चों के पोषण के साथ-साथ महिलाओं के स्वास्थ्य का भी ध्यान रखना जरूरी है तथा कुपोषण के खिलाफ जनता के सहयोग से कुपोषण की जंग लड़ी जाए।

जिलाधिकारी ने कहा कि कोई कुपोषित बच्चा नहीं छूटना चाहिए और गर्भवती महिलाओं तथा बच्चों के वजन का भी डॉटा इकट्ठा किया जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद में समस्त आंगनबाड़ी केंद्रों पर एक सहजन का पौधा अवश्य लगाया जाए और कुपोषित बच्चों को मोटे अनाज का राशन उपलब्ध कराया जाए तथा प्रोटीन युक्त भोजन, फल, हरी सब्जियां व दूध की उपलब्धता बढ़ाई जाए क्योंकि भारत तभी सशक्त हो सकता है जब देश के बच्चें एवं महिलाएं शारीरिक स्वास्थ्य के रूप में सशक्त हो। यह सशक्तिकरण आंगनबाड़ी केन्द्रों से ही शुरू होता है।

इसी को ध्यान में रखते हुए जिलाधिकारी ने समस्त उपजिलाधिकारियों को निर्देश दिये कि इस अभियान को सफल बनाने के लिए समय-समय पर निरीक्षण किया जाए। इसके अलावा जिले के विकास के लिए तहसील के समस्त एवं विकास खण्ड के समस्त अधिकारियों को अपने-अपने तहसील व ब्लाक निवास करने के निर्देश दिए, जिससे विकास कार्यों में तेजी आ सके और सही समय पर कार्य पूर्ण हो सकें।

बरेली से ए सी सकसेना की रिपोर्ट

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper