‘साइकिल गर्ल’ ज्योति के पिता का निधन, पहले लॉकडाउन में घर पहुंचने के संघर्ष ने बटोरी थी सुर्खियां

बिहार की ‘साइकिल गर्ल’ के रूप में सुर्खियों में आईं ज्योति पासवान के पिता का सोमवार को निधन हो गया। ज्योति उस वक्त सुर्खियों में आई थी, जब कोरोना वायरस महामारी की पहली लहर के दौरान वह अपने बीमार पिता मोहन पासवान को साइकिल पर बिठाकर गुरुग्राम से अपने पैतृक गांव सिरहौली पहुंची थीं।

मोहन पासवान की पिछले कुछ दिनों से तबीयत ठीक नहीं चल रही थी। हालांकि अभी तक इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई है कि उनकी मौत कोविड-19 से हुई है या नहीं। पिता के निधन के बाद ज्योति के घर पर बड़ी संख्या में स्थानीय लोगों की भीड़ जमा हो गई है, जो उन्हें सांत्वना दे रहे हैं।

पिछले साल के लॉकडाउन के दौरान जब यातायात के सभी साधनों पर प्रतिबंध लागू कर दिया गया था, उस वक्त ज्योति ने अपनी साइकिल के सहारे हरियाणा के गुरुग्राम से बिहार तक जाने का फैसला लिया था। दरभंगा जिले में अपने गांव पहुंचने के लिए ज्योति ने आठ दिनों में करीब 1,200 किमी की यात्रा की थी। उस समय उसके पिता भी गंभीर रूप से बीमार थे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper