सामने आया एक और पीएफ घोटाला, अब इस विभाग के कर्मचारियों के करोड़ों रुपए DHFL में फंसे

लखनऊ: उत्तर प्रदेश पावर कॉर्पोरेशन लिमिटेड में घोटाला सामने आने के बाद यूपी में एक और विभाग में पीएफ घोटाला सामने आया है. यूपी स्टेट कंस्ट्रक्शन ऐंड इंफ्रास्ट्रक्चर डिवेलपमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड (यूपी सिडको) के कर्मचारियों के पीएफ का पैसा भी DHFL में फंस गया है. बिजली विभाग में हुए पीएफ घोटाले के सामने आने के बाद प्रदेश सरकार ने अन्य विभागों के भविष्य निधि की डिटेल मांगी थी. सरकार ने पूछा था कि आखिर किस विभाग का पैसा कहां पर इन्वेस्ट किया गया है. यूपी सिडको ने जानकारी दी है कि 5.5 करोड़ रुपये कर्मचारियों के पीएप का DHFL में इन्वेस्ट किया गया है.

सूत्रों की माने तो अभी कई विभागों ने कर्मचारियों की गाढ़ी कमाई का निवेश डीएचएफएल में किया है, जिसका खुलासा करने से वह डर रहे हैं. उधर, पावर कॉर्पोरेशन में पीएफ की रकम के मनमाने निवेश का खुलासा होने के बाद योगी सरकार हरकत में आई है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दूसरे सभी विभागों के कर्मचारियों के पीएफ निवेश से संबंधित हिसाब-किताब मांगा है.

इसके बाद मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी ने इस संबंध में शासन के समस्त अपर मुख्य सचिवों, प्रमुख सचिवों व सचिवों के साथ बैठकर कई निर्देश दिए हैं. इसके साथ ही सभी विभागों को पीएफ के संबंधित जानकारी देने के लिए एक फार्मेट भी भेजा गया है. यूपी सिडको के एमडी जगदीश प्रसाद चौरसिया के मुताबिक, मई 2017 में कर्मचारियों के भविष्य निधि (पीएफ) का कुछ अंश दीवान हाउसिंग फाइनैंस लिमिटेड (डीएचएफएल) में निवेश किया गया था.

निवेश के दौरान सभी प्रक्रिया का पालन किया गया था. विभाग का कहना है कि, जिस समय डीएचएफएल में निवेश किया गया तब उसकी रिटर्न की दर काफी ज्यादा थी. इसी कारण रकम लगाने का फैसला किया गया. हालांकि, अब यह कंपनी विवादों में चल रही है. विभाग के अधिकारियों का कहना है कि, हम प्रयास कर रहे हैं कि कर्मचारियों की फंसी हुई रकम वापस आ जाए. वहीं, उप्र राज्य निगम कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष मनोज कुमार मिश्र का कहना है कि यूपी सिडको के कर्मचारी रकम फंसने से परेशान हैं. सरकार को उन लोगों के खिलाफ कार्रवई करनी चाहिए जिन्होंने डीएचएफएल जैसी कंपनियों के पक्ष में पॉजिटिव रेटिंग दी थी.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper