सामाजिक न्याय की लड़ाई लड़ रही सपा

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि उनकी पार्टी समाजवादी आन्दोलन के वरिष्ठ नेता, जननायक के नाम से लोकप्रिय बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री कपरूरी ठाकुर के दिखाये रास्ते पर चलते हुए सामाजिक न्याय की लड़ाई लड़ रही है। वह डा. लोहिया, जय प्रकाश नारायण के साथ समाजवादी आंदोलन में जातिवादी और सांप्रदायिक राजनीति के विरुद्ध संघर्षरत रहे। यादव बुधवार को पार्टी मुख्यालय पर कपरूरी ठाकुर की जयन्ती के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे।

इस अवसर पर उन्होंने स्व. ठाकुर के चित्र पर माल्यार्पण किया।भाजपा सरकार किसानों और नौजवानों के मुद्दों से जनता का ध्यान हटाना चाहती है। भाजपा सरकार ने समाजवादी पेंशन छीनकर और पोषण मिशन की समाप्ति करके महिलाओं का अपमान किया है। स्कूलों में बच्चों के लिये स्वेटर इसलिये नहीं बंटे क्योंकि भाजपा का कहना है कि जनता को कुछ भी मुफ्त नहीं मिलेगा। प्रदेश की भाजपा सरकार सिर्फ उद्घाटन का उद्घाटन कर रही है। अवध शिल्प ग्राम का उद्घाटन समाजवादी सरकार में हो चुका है, इसके बावजूद फिर से इसका उद्घाटन का प्रयास कर रही है।

यह सरकार विकास कायरें की जांच के नाम पर सपा को बदनाम करने की साजिश कर रही है।श्री यादव ने कहा कि राज्य सरकार ने सड़कों का काम रोक दिया, स्वास्य सेवायें ठप कर दी। योगी सरकार छात्रों-नौजवानों को रोजगार देने की दिशा में कोई काम नहीं कर रही है। किसान बदहाली की कगार पर हैं। आलू किसान बर्बाद हो गये हैं। धान और गन्ना के किसान तबाह हैं। अमीर-गरीब के बीच बढ़ती सामाजिक-आर्थिक विषमता को दूर करने में केन्द्र और राज्य सरकार की कोई रुचि नहीं है।

केन्द्र सरकार ने जीएसटी, नोटबंदी और एफडीआई द्वारा स्वदेशी आंदोलन को कमजोर किया है। इस अवसर पर नेता प्रतिपक्ष विधान परिषद अहमद हसन, प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल, राष्ट्रीय सचिव राजेन्द्र चौधरी, पूर्व मंत्री शंखलाल मांझी, एमएलसी एसआरएस यादव, सुनील यादव, शशांक यादव सहित बड़ी संख्या में पार्टी नेता एवं कार्यकर्ता मौजूद रहे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper