सामाजिक माहौल में कार्य करने का अनुभव मिला-न्यायमूर्ति डीबी भोसले

लखनऊ ब्यूरो। इलाहाबाद हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति दिलीप बी.भोसले ने कहा कि इलाहाबाद के उच्च न्यायालय और लखनऊ बेंच में सामाजिक माहौल में कार्य करने का अनुभव मिला। यह मेरे लिए बेहद सुखद अनुभव रहा। वह मंगलवार को उच्च न्यायालय के लखनऊ बेंच में फुल कोर्ट रेफरेंस चीफ जस्टिस कोर्ट में अपने विदाई समारोह में बोल रहे थे।

इस अवसर पर न्यायमूर्ति भोसले भावुक हो गये। उन्होंने अपने भाषण के दौरान कहा कि इलाहाबाद उच्च न्यायालय एवं लखनऊ बेंच में अधिवक्ताओं का उन्हें सहयोग प्राप्त हुआ है। उनके कार्यकाल के दौरान प्रत्येक व्यक्ति ने जिम्मेदारी पूर्वक दायित्वों का निवर्हन किया और भरपूर सहयोग किया।

उन्होंने कहा कि दोनों ही जगहों पर सामाजिक माहौल में कार्य करने का अनुभव बेहद सुखद रहा और इससे कई निर्णय करना आसान हुआ। लखनऊ में कार्य कर के उन्हें खुशी मिली है। इलाहाबाद उच्च न्यायालय में विदाई समारोह में उन्हें जाना है। वहां के लोगों से मिलकर भी खुशी मिलेगी।

इससे पहले भारत सरकार के सहायक सालिसिटर जनरल सूर्यभान पाण्डेय ने कहा कि न्यायमूर्ति डीबी भोसले एक अच्छे व्यक्ति के रुप में हमारे मध्य कार्य करते रहें और उन्हें आजीवन याद किया जायेगा। वह शिवाजी की धरती महाराष्ट्र से गंगा, यमुना व सरस्वती के संगम स्थली पर आये और ऐसे कर्मभूमि पर ऐतिहासिक निर्णयों को दिया। उन्होंने अवध जो श्रीराम की भूमि है, वहां भी महत्वपूर्ण निर्णय लिये। जिसे याद किया जायेगा।

मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति दिलीप बी.भोसले सेवानिवृत्ति

विदाई कार्यक्रम में सूर्यभान पाण्डेय के अतिरिक्त वरिष्ठ न्यायाधीश न्यायमूर्ति विक्रमनाथ भावोद्गार, अवध बार एसोसिएशन लखनऊ के एल्डर्स कमेटी के चेयरमैन एसके कालिया और उत्तर प्रदेश के एडवोकेट जनरल (महाधिवक्ता) राघवेंद्र सिंह ने भी अपने भाव को सभा के सम्मुख रखा।

उल्लेखनीय है कि न्यायमूर्ति डीबी भोसले ने अपने सेवाकाल में 85 न्यायधीशों को शपथ दिलवाने का रिकार्ड अपने नाम किया है। मुख्य न्यायाधीश के रूप में 15 फुल कोर्ट और 58 एडमिनिस्ट्रेटिव कमेटी मीटिंग का आयोजन न्यायमूर्ति भोसले द्वारा किया गया। उन्होंने 11994 मामलों में निर्णय डिवीजन बेंच में और 20 मामलों में निर्णय फुल बेंच में किया है। इलाहाबाद हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश के रूप में 100 से ऊपर जजों के मुख्य न्यायाधीश के रूप में कार्य करने का गौरव उन्हें प्राप्त हुआ है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper