सामुदायिक रेडियो स्टेशन योग दिवस से संबंधित संदेश लगातार प्रसारित करें : केंद्र

नई दिल्ली: अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (आईडीवाई) 2022 आजादी के ‘अमृत महोत्सव’ वर्ष में पड़ रहा है। सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने देश भर के सामुदायिक रेडियो स्टेशनों से इससे संबंधित संदेशों को लगातार प्रसारित करने के लिए कहा है। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस हर साल 21 जून को मनाया जाता है।

सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने जारी एक एडवाइजरी में कहा कि आईडीए 2022, आजादी के ‘अमृत महोत्सव’ वर्ष में पड़ रहा है। इस साल आईडीवाई का फोकस इंडिया ब्रांडिंग पर होगा। साथ ही सीमाओं के पार व्यापक प्रचार पर भी। मंत्रालय ने कहा कि सामुदायिक रेडियो स्टेशन जमीनी स्तर पर सूचना के प्रसार में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं।

आयुष मंत्रालय के सलाहकार ने कहा, इसलिए, सभी सक्रिय सामुदायिक रेडियो स्टेशनों को आईडीवाई 2022 से संबंधित संदेशों को लगातार प्रसारित करने की सलाह दी जाती है। योग आधारित संदेश प्रसारित करंे। राज्यों, जिलों और ब्लॉक प्रशासन द्वारा आयोजित गतिविधियों की नियमित कवरेज करें।

सरकार 7 अप्रैल से राष्ट्रीय राजधानी में लाल किले पर ‘योग उत्सव’ का आयोजन कर रही है और इसी दिन से अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की तैयारी शुरू हो गई।

‘योग उत्सव’ में केंद्रीय आयुष मंत्री, सबार्नंद सोनोवाल ने कहा था, मंत्रालय ने प्रमुख भारत ब्रांडिंग के साथ 75 विरासत स्थलों पर योग प्रदर्शन की योजना बनाई है और सूर्य की गति के साथ दुनिया भर में आईडीवाई के कार्यक्रमों को प्रसारण करने की भी योजना बनाई है। यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के ‘वन सन, वन अर्थ’ अभियान से जुड़ा है।

दिसंबर 2014 में, संयुक्त राष्ट्र ने योग के कई लाभों के बारे में दुनिया भर में जागरूकता बढ़ाने के उद्देश्य से 21 जून को आईवाईडी के रूप में घोषित किया। आईडीवाई की स्थापना का मसौदा प्रस्ताव भारत द्वारा प्रस्तावित किया गया था और रिकॉर्ड 175 सदस्यीय राज्यों द्वारा इसका समर्थन किया गया था।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-----------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper