साम्प्रदायिक दंगों के लिए राहुल गांधी और उनकी पार्टी जिम्मेदार: गिरिराज सिंह

इलाहाबाद ब्यूरो। बिहार-बंगाल और गुजरात में हुए साम्प्रदायिक दंगों के लिए राहुल गांधी और उनकी कांग्रेस पार्टी जिम्मेदार है और इस तरह की घटनाएं वहीं हो रही हैं, जहां बहुसंख्यक हिन्दू कमजोर हो रहा है। कांग्रेस और राहुल गांधी साजिश के तहत सामाजिक समरसता को कमजोर करते हुए हिंदुओं को आपस में बांटने का काम कर रहे हैं।

उक्त विचार केंद्रीय सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) गिरिराज सिंह ने शुक्रवार को सर्किट हाउस में व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी हिन्दुओं को आपस में बांटकर भारत के टुकड़े-टुकड़े करना चाहते हैं। गिरिराज सिंह ने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए उन्हें बहुरुपिया करार दिया और कहा कि हिन्दू जहां भी कमजोर हो रहा है, वहां बिहार व बंगाल जैसी घटनाएं हो रही हैं। वहीं उन्होंने बिहार की घटनाओं के बारे में कुछ भी बोलने से मना कर दिया और कहा कि पिछले कई दिनों से वह बिहार नहीं गए हैं, उन्हें वहां के बारे में ज्यादा जानकारी भी नहीं है।

बिहार जाकर जमीनी हकीकत समझे बिना उनका कुछ भी बोलना ठीक नहीं है। यूपी सरकार की ओर से डा. भीमराव अम्बेडकर के नाम के साथ राम शब्द जोड़े जाने पर गिरिराज ने कहा कि इसमें कुछ भी गलत नहीं है। लोग बेवजह सवाल उठा रहे हैं। अम्बेडकर सभी के हैं और उनके नाम पर किसी का एकाधिकार नहीं है।

इसके पूर्व केंद्रीय सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) गिरिराज सिंह एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता योगेश शुक्ल साथ-साथ नई दिल्ली से चलकर शुक्रवार को इलाहाबाद पहुंचे। जहां दोनों नेताओं का जंक्शन पर कार्यकर्ताओं ने भव्य स्वागत किया। वहां से गिरिराज सिंह सर्किट हाउस आ गये और पार्टी कार्यकर्ताओं एवं अन्य जनों से भेंट मुलाकात की।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper