सारनाथ में भगवान बुद्ध की पवित्र अस्थियां देख अभिभूत हुए जर्मन राष्ट्रपति

वाराणसी। काशी पुराधिपति बाबा विश्वनाथ की नगरी मेें गुरुवार को एक दिवसीय दौरे पर सपत्निक आये जर्मनी के राष्ट्रपति फ्रैंक वॉल्टर स्टाइन मायर एयरपोर्ट से सीधे भगवान बुद्ध की तपोस्थली सारनाथ पहुंचे। पुरातात्विक संग्रहालय (म्यूजियम) में पहुंचे जर्मन राष्ट्रपति ने लगभग 20 मिनट तक संग्रहालय को देखा। संग्रहालय में भगवान बुद्ध और बौद्ध शिल्प कलाकृति का अवलोकन कर मायर दम्पति अभिभूत नजर आये। इसके पूर्व संग्रहालय में अधीक्षण पुरातत्वविद् नीरज सिन्हा व पुरातत्वविद् नीतेश सक्सेना ने पुष्पगुच्छ देकर जर्मनी के प्रथम राष्ट्रपति का स्वागत किया। यहां से निकलने के बाद जर्मन राष्ट्रपति ने धमेख स्तूप, चौखंडी स्तूप का अवलोकन करने के बाद मूलगंध कुटी विहार स्थित बौद्ध मंदिर में भगवान बुद्ध की प्रतिमा और पवित्र अस्थि अवशेष का दर्शन पूजन किया।

इस दौरान पूरे सारनाथ परिसर को जगह-जगह बौद्ध धर्म के पंचशील झंडों और पुष्पों से सजाया गया था। परिसर के बाहर सैकड़ों नागरिक, स्कूली बच्चे, भाजपा कार्यकर्ता दोनों देश का झंडा लहराते हुए उनके स्वागत में खड़े रहे। खास मेहमान काशी के परम्परागत हर-हर महादेव के स्वागत नारे से बेहद उत्साहित रहे। लगभग सवा घंटे सारनाथ भ्रमण के बाद राष्ट्रपति का काफिला नदेसर स्थित होटल गेटवे पहुंचा।
इसके पूर्व जर्मनी के राष्ट्रपति अपनी पत्नि के साथ दोपहर में विशेष विमान से बाबतपुर स्थित लाल बहादुर शास्त्री अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचे। विमान से एप्रन पर उतरते ही पाणिनि कन्या महाविद्यालय की छात्राओं ने वैदिक मंत्रोच्चारण पुष्प वर्षा के बीच तिलक लगाकर खास मेहमान का भारतीय परम्परानुसार स्वागत किया।

इसके बाद वहां पहले से मौजूद कमिश्नर, डीएम सहित प्रशासनिक अफसरों ने गर्मजोशी से पुष्पगुच्छ देकर अगवानी की। एयरपोर्ट लाउन्ज में महापौर मृदुला जायसवाल, जिला पंचायत अध्यक्ष अपराजिता सोनकर, विधायक रविन्द्र जायसवाल ने भी जर्मन राष्ट्रपति का स्वागत किया। एयरपोर्ट से वाहनों का काफिला बाहर निकला तो भाजपा महिला मोर्चा की दर्जनों कार्यकर्ताओं और भाजपा जिलाध्यक्ष हंसराज विश्वकर्मा ने दोनों देशों का राष्ट्रध्वज लहरा भारत माता की जय बोलकर स्वागत किया। एयरपोर्ट बाउंड्री से बाहर निकलने पर संस्कृति विभाग उत्तर प्रदेश की ओर से आजमगढ़ का धोबिया नृत्य पेश कर स्वागत किया गया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper