सावधान! वीजा चाहिए तो सोच-समझकर सोशल मीडिया पर लिखें पोस्ट

नई दिल्ली: आपकी सोशल मीडिया पर सक्रियता और बिना सोचे समझे पोस्ट लिखने की आदत पर निगरानी रखी जा रही है। यह आदत आपके विदेश जाने के इरादों पर भारी पड़ सकती है। तमाम देशों के आव्रजन एवं सीमा सुरक्षा अधिकारी अब वीजा लेने वाले लोगों के सोशल मीडिया अकाउंट्स पर भी नजर रखते हैं। इनके जरिए वे आवेदक की पूरी जानकारी जुटाते हैं। खासतौर पर अतिवादी संगठनों से किसी तरह का संपर्क या फिर मेजबान देश के नियमों के मुताबिक हेट स्पीच को बढ़ावा देने वाली पोस्ट पर ध्यान दिया जाता है।
यदि ऐसा पाया जाता है तो वीजा के आवेदन को रद्द भी किया जा सकता है। यही नहीं अमेरिका जैसे देशों में तो अथॉरिटीज की ओर से आपकी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को भी चेक किया जा सकता है, जैसे फोन और लैपटॉप। ग्लोबल लॉ फर्म बेरी ऐपलमैन ऐंड लीडन की ओर से जारी किए गए वाइट पेपर के मुताबिक अमेरिका में 2017 में सीमा अधिकारियों द्वारा 30,200 इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेज को चेक किया गया, जो बीते साल के मुकाबले 58 फीसदी अधिक है।
2017 के मुकाबले 2015 में महज 8,500 ऐसे मामले थे, जब वीजा आवेदन पर इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेज को चेक किया गया। इलेक्ट्रॉनिक सर्चिंग में यह इजाफा लगातार हो रहा है। इस साल 31 मार्च तक अमेरिका में 15,000 डिवाइसेज को सर्च किया गया। ‘सोशल मीडिया ऐंड इमिग्रेशन’ नाम से पेश वाइट पेपर में बेरी ऐपलमैन ऐंड लीडन ने कहा कि हालांकि ऐसे ट्रैवलर्स की संख्या कम है, जिनकी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेज और सोशल मीडिया प्रोफाइल को सर्च किया गया, लेकिन अमेरिका में एंट्री लेने और आने वाले लोगों को ऐसी किसी भी स्थिति के लिए तैयार रहना चाहिए, जब उनसे उनके सेलफोन या अन्य डिवाइसेज को बॉर्डर पर अनलॉक करने के लिए कहा जाए।
नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper