सिर्फ पूंजीपतियों की चिंता, कृषि कानून वापस ले सरकार: अखिलेश यादव

आजमगढ़: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि आज किसान केवल न्यूनतम समर्थन मूल्य मांग रहा है लेकिन केंद्र सरकार किसानों का शोषण कर रही है। केंद्र की सरकार को केवल पूजी पतियों की चिंता है। किसान हित की बात करना केवल उनका दिखावा है। सर्दी के समय में किसान लाठी खा रहा है । किसान अपना हक मांग रहा है लेकिन सरकार वह भी नहीं दे रही है।

रविवार की शाम साढे सात बजे जिला मुख्यालय से 45 किलोमीटर दूर अतरौलिया निरीक्षण भवन में कार्यकर्ताओं के स्वागत के दौरान सपा मुखिया ने पत्रकारों से बातचीत में ये बातें कहीं। उन्होंने कहा कि बिजली का बिल एवं डीजल का मूल्य बेतहाशा बढ़ रहा है। किसानों को गन्ना मूल्य का भुगतान नहीं हो रहा है । धान बेचने में पूरी तरह से अराजकता है। लेकिन सरकार किसानों की आय दोगुनी करने की बात कर रही है।

शाम साढे सात बजे सड़क मार्ग से लखनऊ से आजमगढ़ पूर्व मंत्री वसीम अहमद के घर पहुंचने से पूर्व अखिलेश ने अतरौलिया में 25 मिनट का वक्त कार्यकर्ताओं के साथ गुजारा। वो वसीम अहमद के इंतकाल के बाद परिजनों को ढांढस बनाने आजमगढ शहर पहाड़पुर आ रहे थे। आजमगढ़ सांसद अखिलेश यादव का अतरौलिया स्थित निरीक्षण भवन में क्षेत्रीय विधायक डॉ. संग्राम यादव एवं पूर्व प्रमुख चंद्रशेखर यादव के नेतृत्व में जोरदार स्वागत किया गया। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष का फूल माला पहनाकर पूरे उत्साह के साथ जोरदार स्वागत किया। अतरौलिया डाक बंगले में 7:30 पर पहुंचे लगभग 25 मिनट रुके ।

इस दौरान समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने केंद्र एवं राज्य सरकार पर जमकर हमला बोला। तीन कृषि कानून के खिलाफ दिल्ली में किसानों के आंदोलन पर किसानों को बधाई दी। इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री कार्यकर्ताओं के उत्साह को देखते हुए कार्यकर्ताओं के बीच में जा कर बैठे एवं फोटो भी खिंचवाई। नगर पंचायत अध्यक्ष सुभाष चंद्र जायसवाल की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि इन्हें चुनाव जिताने के लिए मैं अतरौलिया की गली गली में घूम कर लोगों से वोट देने की अपील किया हूं इसलिए अतरौलिया को कभी भूल नहीं सकता। उन्होंने कहा की चुनाव आते हैं और जाते हैं लेकिन यहां से जो रिश्ता वह अनवरत रहेगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper