सिर धड़ से अलग करने के बाद दरिंदे अफताब ने काटे थे श्रद्धा के बाल, नई गर्लफ्रेंड को लेकर हुए चौंकाने वाले खुलासे

नई दिल्ली: श्रद्धा हत्याकांड को लेकर देशभर में सनसनी फैली हुई है। इस मामले को लेकर अब तक पुलिस को कई चौंका देने वाले सुराग मिले है। वहीं अब पुलिस को श्रद्धा की अंगूठी मिली है। आरोपी आफताब अमीन पूनावाला ने ये अंगूठी अपनी महिला दोस्त को गिफ्ट कर दी थी। पुलिस इसे श्रद्धा हत्यकांड मामले में अहम सबूत मान रही है। ऐसे में उसकी महिला दोस्त के बयान भी महत्वपूर्ण हो गए हैं।

आरोपी आफताब ने श्रद्धा के सिर को अलग करने के बाद सिर से बाल काटे थे। पुलिस को श्रद्धा के बाल छत्तरपुर के जंगल से मिल गए है। श्रद्धा के बालों का भी उसके पिता के डीएनए से मिलान हो गया है। दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि श्रद्धा सोने की अंगूठी पहनती थी। उसने श्रद्धा की हत्या करने के बाद अंगूठी को अपने पास रख लिया था। आरोपी आफताब ने इस अंगूठी को अपनी महिला दोस्त को गिफ्ट कर दी थी। ये वही महिला दोस्त है जिसे आफताब ने श्रद्धा की हत्या करने के बाद अपने छत्तरपुर स्थित वारदात वाले फ्लैट में बुलाया था। दक्षिण जिला पुलिस ने इस महिला दोस्त को पूछताछ के लिए बुलाया था। पुलिस ने इन महिला दोस्त से अंगूठी को बरामद किया है। इस महिला दोस्त ने बताया कि ये अंगूठी आफताब ने उसे उस समय गिफ्ट में दी थी जब वह आरोपी आफताब से मिलने फ्लैट में गई थी। पुलिस ने इस अंगूठी की पहचान के लिए श्रद्धा के पिता को दिखाया था। श्रद्धा के पिता ने इस अंगूठी की श्रद्धा की अंगूठी के रूप में की है। उन्होंने इस अंगूठी को श्रद्धा को उनके जन्मदिन पर गिफ्ट दिया था।

दिल्ली पुलिस के एक अन्य अधिकारी ने बताया कि आरोपी आफताब ने पहले तो श्रद्धा के सिर को अलग किया और फिर सिर से कैची से बाल काटे थे। इन बालों को काटकर उसने एक पैकेट में रखा था। पुलिस को ये पैकेट छत्तरपुर के जंगल में मिल गया था। इन बालों को डीएनए जांच के लिए भेजा गया था। पुलिस अधिकारियों के अनुसार श्रद्धा के बालों का भी डीएनए भी मिल गया है। डीएनए मिलान उसके पिता व भाई से किया गया था। इससे पहले श्रद्धा की हड्डियों व खून का डीएनए मिलान भी हो गया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-----------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper