सीएम से मिलने की जिद में गले में फंदा डाल पेड़ पर चढ़ा युवक, पुलिस के छूटे पसीने

लखनऊः एक आशियाना बनाने के लिए गांव में जब युवक को जमीन नहीं मिली तो वह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने की जिद कर बैठा। उसे मुख्यमंत्री से मिलने का रास्ता नहीं समझ में आया तो वह शुक्रवार को गले में फंदा लगाकर पेड़ पर चढ़ गया। यह मामला उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ का है। मुख्यमंत्री आवास से कुछ ही दूरी पर गौतमपल्ली क्षेत्र के एक पेड़ पर चढ़े युवक को उतारने के लिए पुलिस को पसीने छूट गए। पुलिस ने उसे उतारने के लिए कई प्रलोभन भी दिए लेकिन वह मुख्यमंत्री से मिलने की जिद पर अड़ा रहा। देखते ही देखते लोगों की भीड़ एकत्र हो गई।

इस बीच सूचना पाकर पुलिस के अधिकारी भी पहुंच गए। हाइड्रोलिक मशीन भी मंगाई गई। पुलिस ने युवक को आश्वास्त किया कि उसे मुख्यमंत्री से मिलवाया जाएगा। तब जाकर युवक को पेड़ से उतारने में कामयाबी मिली। गौतमपल्ली थाना प्रभारी ने बताया कि पेड़ से उतारे गए युवक मुजफ्फरनगर जिले का रहने वाला है। उसका नाम कल्लू कश्यप है। पूछताछ में उसने बताया कि उसे गांव में मकान बनवाने के लिए पट्टे की जमीन चाहिए लेकिन लेखपाल, ग्राम प्रधान और कई ऐसे लोग हैं जो जमीन लेने नहीं दे रहे हैं। वह काफी परेशान है।

वह मुख्यमंत्री से मिलना चाहता था जिसके चलते आज वह लखनऊ पहुंचकर पेड़ पर चढ़ गया है। थाना प्रभारी ने बताया कि युवक के परिवार से बातचीत की गई तो पता चला कि मकान बनवाने के लिए उसने मुजफ्फरनगर में अपनी तहसील या फिर जिलाधिकारी के पास कोई इस संबंध में प्रार्थनापत्र नहीं दिया है। न ही मुख्यमंत्री से मिलने के लिए कोई अर्जी लगाई थी। घरवालों ने यह भी बताया कि कल्लू को हाइपरटेंशन की बीमारी है। उसका इलाज चल रहा है। मामले की जानकारी मुजफ्फरनगर को पुलिस को दे दी गई है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper