सुनिए जी! अब गुजरात में सामने आया 26 हजार 500 करोड़ का बैंक घोटाला

अखिलेश अखिल

हमारे देश की अपनी एक राजनीतिक तासीर है। किसी कांड का खुलासा होते ही ऐसे ही खुलासे की श्रृंखला कड़ी हो जाती है। पीएनबी बैंक घोटाला जैसे ही सामने आया और सरकारी अमला जांच में जैसे ही जुटा कानपुर का विक्रम कोठरी बैंक कांड सामने आ गया। इसके साथ ही देश में हो रहे तमाम बैंक फर्जीवाड़े की परते खुलनी लगी। अभी ताजा खबर मिल रही है कि गुजरात में करीब साढ़े 26 हजार करोड़ के बैंक घोटाले को गुजरात की पांच व्यापारिक कंपनियों ने अंजाम दे दिया है। गुजरात से मिल रही इस खबर के बाद गुजरात से लेकर दिल्ली तक की राजनीति गर्म हो गयी है। लूट का ऐसा खेल आज से पहले कभी नहीं देखा गया था।

गुजराती दैनिक ‘गुजरात समाचार’ में छपी खबर के अनुसार, गुजरात के बैंकों में हुआ एक महाघोटाला सामने आया है।ये घोटाला नीरव मोदी और विजय माल्या प्रकरण से भी बड़ा है। ये घोटाला 26 हज़ार 500 करोड़ का बताया जा रहा है। इस घोटाले में पांच कंपनियों के नाम सामने आए हैं। खबर के मुताविक इन सभी कंपनियों पर सालों से बैंक रकम बाकी है और ये कंपनियां लगभग गायब हो गयी है।

कंपनी                                लोन की रकम

कैमरॉक                            1651 करोड़

सांडेसारा ग्रुप                       17500 करोड़

जे सीटी कंपनी का थापर ग्रुप   4000 करोड़

डायमण्ड पावर                     3000 करोड़

मुक्त ज्वेलर्स                       350 करोड़

आपको बता दें कि गुजरात में 1995 के बाद से लगातार भाजपा ही सरकार में बनी हुई है। प्रधानमंत्री मोदी 15 साल तक गुजरात के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। गुजरात में इतना बड़ा बैंकिंग घोटाला सामने आना और केंद्र में भी भाजपा की ही सरकार रहते बैंक घोटालों के आरोपियों का देश छोड़कर भाग जाना, भाजपा की भूमिका पर सवाल उठाता है।

गौरतलब है कि पीएनबी घोटाले के बाद देश में बैंक घोटालों से जुड़े नए खुलासे हो रहे हैं। ये सभी घोटाले भाजपा को घेरते नज़र आ रहे हैं।बता दें, कि पीएनबी में 11,400 करोड़ का घोटाला हुआ है। इसे देश का सबसे बड़ा बैंक घोटाला माना जा रहा है। इसमें मुख्य आरोपी हीरा कारोबारी नीरव मोदी है। नीरव मोदी देश के सबसे बड़े उद्योगपति मुकेश अम्बानी के रिश्तेदार हैं।

नीरव मोदी को स्विट्ज़रलैंड के दावोस शहर में होने वाली वर्ल्ड इकोनोमिक फोरम की बैठक में पीएम मोदी के साथ देखा गया था। नीरव मोदी मामले के बाद कानपुर का मामला सामने आया है। वहाँ भी विक्रम मोदी को गिरफ्तार कर मामले की जांच की जा रही है। अब गुजरात बैंक कांड सामने आने के बाद देश में बैंक लूट काण्ड की नयी कहानी देखि जा रही है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper