सुल्तानपुर और गोरखपुर से चलने वाली दो ट्रेनों में लगेंगे एलएचबी कोच

लखनऊ ब्यूरो। रेलवे प्रशासन सुरक्षा और संरक्षा को मजबूत करने के लिए ट्रेन 19403/19404 अहमदाबाद-सुल्तानपुर-अहमदाबाद एक्सप्रेस में 11 दिसम्बर से पुराने कोच बदलकर नए एलएचबी (लिंके होफमैन बुश) कोच लगाएगा। साथ ही 19409/19410 अहमदाबाद-गोरखपुर-अहमदाबाद एक्सप्रेस में भी एलएचबी कोच लगाए जाएंगे।

पूर्वोत्तर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी (सीपीआरओ) ने शनिवार को बताया कि रेलवे ने पुराने कोच बनाने बंद कर दिए हैं। जल्द ही सभी ट्रेनें एलएचबी रैक वाली होंगी। इस कड़ी में ट्रेन 19403/19404 अहमदाबाद-सुल्तानपुर-अहमदाबाद एक्सप्रेस में 11 दिसम्बर से अहमदाबाद से और 12 दिसम्बर से सुल्तानपुर से पुराने कोच बदलकर नए एलएचबी (लिंके होफमैन बुश) कोच लगाए जाएंगे।

ट्रेन 19409/19410 अहमदाबाद-गोरखपुर-अहमदाबाद एक्सप्रेस में भी आधुनिक सुविधाओं से युक्त एलएचबी कोच लगेंगे। कोच परिवर्तन के बाद ट्रेन में दो लगेज यान, 04 जनरल, 08 स्लीपर, दो थर्ड एसी एवं एक सेकेंड एसी सहित कुल 17 कोच लगेंगे।

सीपीआरओ ने बताया कि एलएचबी कोच में एंटी टेलीस्कोपिक सिस्टम होता है। जिससे डिब्बे आसानी से पटरी से नहीं उतर पाते हैं। एलएचबी कोच में डिस्क ब्रेक सिस्टम होता है। जिससे ट्रेन को जल्दी रोका जा सकता है। एलएचबी कोच में चलने के बाद आवाज नहीं आती है। इसका साउंड लेवल 60 डेसीबल का होता है। एलएचबी कोच में दो डिब्ब तरह के कपलिंग की जाती है कि दुर्घटना होने पर डिब्बे एक दूसरे के ऊपर नहीं चढ़ते हैं।

दरअसल, सुरक्षा और सुविधा को बढ़ाते हुए रेल प्रशासन पुराने कोच को हटाकर नए एलएचबी कोच ट्रेनों में लगा रहा है। इससे सफर के दौरान हादसे भी कम होंगेे और यात्रियों की जानें बचाई जा सकेंगी। इससे पहले रेलवे लखनऊ मेल, एसी स्पेशल जैसी खास ट्रेनों के कोच एलएचबी में बदल चुका है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper