सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर नेता-अभिनेता मनोज तिवारी का बड़ा खुलासा, कही ये बात

New Delhi: बिहार, पटना के रहनेवाले अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ने इसी 14 जून को मुंबई के बांद्रा स्थित अपने घर में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी । इस घटना को सुनने के बाद हर कोई सन्‍न रह गया । एक सफल, मुस्‍कुराते चेहरे के पीछे ऐसा क्‍या रहस्‍य छिपा था जिसने उसे मौत के मुंह में ढकेल दिया, हर कोई ये जानना चाहता है । मुंबई पुलिस इस मामले में 12 से ज्यादा लोगों से पूछताछ कर चुकी है। मामले में बॉलीवुड के भाई भतीजावाद को कारण माना जा रहा है, जिसके बाद कई ऐसे लोग खुलकर सामने आ रहे हैं, जिन्‍होने इस इंडस्‍ट्री में आने की जद्दोजहद की है ।

मनोज तिवारी का बड़ा खुलासा
सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर नेता – अभिनेता मनोज तिवारी भी सामने आए हैं । वो पटना में सुशांत सिंह राजपूत के शोक मग्‍न परिवार से मिलने पहुंचे, मृत आत्‍मा को श्रद्धांजलि दी । सुशांत की मौत पर बात करते हुए मनोज तिवारी ने बड़ा खुलासा करते हुए कहा कि इस मामले में जो दोषी होंगे उनपर कार्रवाई होगी ।

बॉलीवुड का काला सच बताया
मनोज तिवारी ने बॉलीवुड के काले सच का खुलासा करते हुए कहा कि इंडस्‍ट्री में छोटे शहर वाले कलाकारों के साथ बहुत ज्यादा भेदभाव होता है। जो सह सकते हैं वह रहते हैं, नहीं तो बहुत लोग टूट जाते हैं। मनोज तिवारी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि सुशांत की मौत को लेकर उपजे सवालों पर जांच जारी है । मैं भी सुशांत की मौत की उच्चस्तरीय जांच की मांग करता हूं, पहले जांच हो उसके बाद ही कुछ कहेंगे।

श्रद्धांजलि एवं प्रार्थना सभा
आपको बता दें सुशांत सिंह राजपूत के निधन को एक हफ्ते गुजर चुके हैं । रविवार को उनके पटना स्थित घर पर एक प्रार्थना सभा का आयोजन कर परिवार के सदस्यों, दोस्तों और करीबी रिश्तेदारों ने अभिनेता को श्रद्धांजलि दी। इस प्रार्थना सभा की कई तस्वीरें और वीडियो भी सोशल मीडिया पर आए हैं । सुशांत की तस्वीर और उसके आस पास सफेद फूल नजर आए हैं । उनके फैंस इन तस्‍वीरों को देखकर भावुक हो गए हैं ।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper