सूडान की एक फैक्ट्री में हुआ बड़ा धमाका, 18 भारतीयों समेत 23 लोगों की मौत, 130 गंभीर घायल

नई दिल्ली: सूडान की सिरेमिक फैक्ट्री में बुधवार को बड़ा धमाका हो गया. फैक्ट्री में काम कर रहे 18 भारतीय मजदूरों समेत 23 लोगों की मौत हो गई. वहीं 130 गंभीर घायल हो गए. इस धमाके ने कई निर्दोषों की जान ले ली. इस खबर की पुष्टि विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने की है. विदेश मंत्री ने बुधवार को ट्वीट कर कहा कि बहुत ही दुखद समाचार मिला है. उन्होंने कहा कि सूडान की राजधानी खार्तूम के बहरी इलाके में एक सिरेमिक कारखाने सालूमि में बड़ा धमाका हो गया. जिसमें 18 भारतीय मजदूरों की मौत हो गई. कई गंभीर घायल बताए जा रहे हैं.

भारतीय दूतावास से मिली जानकारी के अनुसार सूडान में एक टाइल बनाने वाली फैक्टरी में एलपीजी टैंकर विस्फोट हो गया. यह ‘सालूमी’ नाम की टाइल बनाने वाली फैक्टरी में बड़ा धमाका हुआ है. इस धमाके में अबतक 23 लोगों की मौत हो गई है. जिसमें 18 भारत के मजदूर हैं. वहीं 130 लोग गंभीर घायल हो गए हैं. मंगलवार को राष्ट्रीय राजधानी खार्तूम के बहरी क्षेत्र में सीला सेरेमिक फैक्ट्री में हुई दुर्घटना के बाद 16 भारतीय लापता हैं. भारतीय दूतावास ने एक बयान जारी कर कहा कि ताजा लेकिन अपुष्ट रिपोर्ट के अनुसार 18 की मौत हो चुकी है. कुछ लापता लोग मृतकों में शामिल हो सकते हैं जिसकी जानकारी अभी नहीं मिल पाई है, क्योंकि शव जले हुए थे.

दूतावास ने बुधवार को उन भारतीयों की एक विस्तृत सूची जारी की जो अस्पताल में हैं, लापता हैं या त्रासदी में बच गए हैं. आंकड़ों के अनुसार सात लोग अस्पताल में हैं जिनमें से चार की हालत गंभीर है. 34 बचे हुए भारतीय सलूमी सेरेमिक्स कारखाने के आवासों में रह रहे हैं. एएफपी की एक रिपोर्ट के अनुसार सूडान सरकार ने कहा कि दुर्घटना में 23 लोग मारे गए और 130 से अधिक घायल हुए. प्रारंभिक रिपोर्ट में घटनास्थल पर आवश्यक सुरक्षा उपकरण उपलब्ध न होने की बात सामने आई है. सूडान सरकार ने कहा, ‘‘वहां पर ज्वलनशील पदार्थों का अनुचित तरीके से भंडार किया गया था जिसके कारण आग फैल गई. उन्होंने कहा कि मामले की जांच चल रही है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper