सेंचुरियन वनडे : चहल, कुलदीप ने द. अफ्रीका को किया पस्त

सेंचुरियन: पहले वनडे के बाद दूसरे वनडे में भी दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाज भारत की स्पिन जोड़ी-कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल का सामना नहीं कर पाई। दोनों ने रविवार को सुपर स्पोर्ट पार्क मैदान पर खेले गए मैच में आपस में आठ विकेट बांटते हुए मेजबान टीम को 32.2 ओवरों में 118 रनों पर ही ढेर कर दिया। भारत ने इस आसान से लक्ष्य को शिखर धवन (नाबाद 51) और कप्तान विराट कोहली (नाबाद 46) के दम पर 20.3 ओवरों में एक विकेट खोकर हासिल कर लिया।

यह दक्षिण अफ्रीका का अपने घर में सबसे कम स्कोर है। इससे पहले उसका घर में सबसे कम स्कोर 119 इंग्लैंड के खिलाफ पोर्ट एलिजाबेथ में था। यह भारत के खिलाफ दक्षिण अफ्रीका का दूसरा सबसे न्यूनतम स्कोर है। साथ ही यह इस मैदान पर भी किसी भी टीम बनाया गया सबसे कम स्कोर भी है। इससे पहले जिम्बाब्वे ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ इस मैदान पर 119 रन बनाए थे। भारत ने इसी के साथ छह वनडे मैचों की सीरीज में 2-0 की बढ़त ले ली है। मेहमान टीम ने डरबन में खेले गए पहले मैच में छह विकेट से जीत हासिल की थी।

चहल ने 8.2 ओवरों में 22 रन देकर पांच विकेट लिए जबकि कुलदीप ने आठ ओवरों में 20 रन देकर तीन सफलताएं हासिल कीं। चहल ने पहली बार वनडे में पांच विकेट लिए हैं। आसान से लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारत ने अपना एक मात्र विकेट रोहित शर्मा (15) के रूप में गंवाया। रोहित को कागिसो रबादा ने 26 के कुल स्कोर पर मोर्ने मोर्केल के हाथों कैच करा पवेलियन भेजा। इसके बाद कोहली और धवन ने दूसरे विकेट के लिए 93 रनों की साझेदारी करते हुए भारत को जीत दिलाई। भारत को जब दो रन चाहिए थे तभी इनिंग्स ब्रेक का समय हो गया था और अंपयारों ने दोनों टीमों की न के बाद भी इस ब्रेक को लिया।

धवन ने अपनी अर्धशतकीय पारी में 56 गेंदें खेली और चार चौके जड़े। कप्तान कोहली ने 50 गेंदों का सामना किया। उन्होंने चार चौकों के अलावा एक छक्का लगाया। इससे पहले, टॉस जीतकर कोहली ने पहले गेंदबाजी करने का फैसला लिया। मेजबान टीम को सधी हुई शुरुआत तो मिली, लेकिन कुलदीप और चहल ने उसकी अच्छी शुरुआत को जाया कर दिया। पहले विकेट के लिए हाशिम अमला (23) और क्विंटन डी कॉक (20) ने 39 रन जोड़े। भुवनेश्वर कुमार ने अमला को विकेट के पीछे महेंद्र सिंह धौनी के हाथों कैच करा भारत को पहली सफलता दिलाई।

दूसरा विकेट 51 के कुल स्कोर पर डी कॉक के रूप में गिरा। उन्हें चहल ने अपना शिकार बनाया। इसी स्कोर पर मेजबान टीम ने दो और विकेट खो दिए और उसका स्कोर 51 रनों पर चार विकेट कर दिया। इस मैच में कप्तानी कर रहे एडिन मार्कराम (8) को कुलदीप ने भुवनेश्वर के हाथों कैच करा अपना खाता खोला। उन्होंने चार गेंद बाद डेविड मिलर जैसे खतरनाक बल्लेबाज को अजिंक्य रहाणे के हाथों कैच करा भारत को चौथी सफलता दिलाई। ज्यां पॉल ड्यूमिनी (25) और पदार्पण कर रहे खाया जोंडो (25) ने टीम को संकट से निकालने की कोशिश करते हुए पांचवें विकेट के लिए 48 रनों की साझेदारी की, लेकिन चहल ने जोंडो को अपना शिकार बनाते हुए इस साझेदारी को तोड़ दिया। यह विकेट 99 के कुल स्कोर पर गिरा।

ड्यूमिनी भी 107 के कुल स्कोर पर चहल की गेंद पर पगबाधा करार दे दिए गए। यहां से मेजबान टीम के बाकी के चार विकेट महज 11 रनों के भीतर गिर गए और वह मामूली से स्कोर पर पवेलियन में बैठ गई। कुलदीप और चहल के अलावा जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार को एक-एक सफलता मिली।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper