सेक्स या किस करने से फैलता है कोरोना वायरस? जानिए हेल्थ एक्सपर्ट्स की राय

नई दिल्ली: कोरोना वायरस इंसान के बाल से लगभग 900 गुना बारीक है. इसलिए ये बड़ी आसानी से इंसान को अपना शिकार बना रहा है. भारत में कोरोना वायरस के पीड़ितों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. कोरोना वायरस और सोशल डिस्टेंसिंग के बीच लोगों के मन में कई तरह के सवाल उठ रहे हैं. हेल्थ एक्सपर्ट्स ने बताया है कि आखिर कोरोना वायरस कैसे फैलता है और इस समय पार्टनर के कितना करीब जाना सही है.

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन का कहना है कि कोरोना वायरस सेक्सुअल ट्रांसमिटेड डिसीज नहीं है. हेल्थ एक्सपर्ट का ये भी कहना है कि पीड़ित व्यक्ति को किस करने से ये निश्चित तौर पर फैलेगा. रोगी व्यक्ति के नजदीक से गुजरने पर आपको कोरोना वायरस होगा या नहीं ये 4 चीजों पर निर्भर करता है.

पहला, आप पीड़ित व्यक्ति के कितना नजदीक जाते हैं. दूसरा, क्या पीड़ित व्यक्ति के खांसते या छींकते वक्त उसके ड्रॉपलेट्स आप पर गिरे हैं. तीसरा, आप अपने चेहरे पर हाथ लगा रहे हैं. चौथा, आप खुद कितने स्वस्थ हैं या आपकी उम्र कितनी है, क्योंकि उम्रदराज लोगों का इम्यून सिस्टम दुरुस्त न होने की वजह से ये उन्हें जल्दी शिकार बनाता है.

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के एक प्रवक्ता क्रिश्चियन लिंडमियेर का कहना है कि कोरोना वायरस से पीड़ित व्यक्ति से कम से कम 3 फीट दूर रहना चाहिए. जबकि ‘द सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन’ के तरफ से जारी दिशा निर्देश में पीड़ित व्यक्ति से 6 फीट की दूरी होना जरूरी बताया है. अगर आप में कोरोना वायरस के हल्के लक्षण भी हैं तो आपका पार्टनर भी आपसे जरूर संक्रमित हो जाएगा. ऐसे में अगर आप किसी लक्षण से जूझ रहे हैं तो आपको अपने पार्टनर से दूर रहने की कोशिश करनी चाहिए.

इस बात की अभी तक पुष्टि नहीं हुई है कि कोरोना वायरस के पार्टिकल्स दीवारों या शीशों के जरिए आपके जोन में दाखिल हो सकते हैं. हां, लेकिन पीड़ित व्यक्ति के छींकने पर यदि उसके ड्रॉपलेट्स किसी रेलिंग पर गिरे हैं और आप उसके संपर्क में आ जाएं तो खतरा बढ़ सकता है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper