सैनिक स्कूल की स्थापना हेतु शीघ्र भूमि को चिन्हित किया जाए : मंडलायुक्त

बरेली, 03 सितम्बर। मंडलायुक्त श्रीमती सेल्वा कुमारी जे की अध्यक्षता में कल मंडलीय सैनिक स्कूल की स्थापना के सम्बन्ध में बैठक आयुक्त सभागार में सम्पन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी श्री शिवाकान्त द्विवेदी, संयुक्त शिक्षा निदेशक श्री अजय कुमार द्विवेदी, जिला विद्यालय निरीक्षक श्री सोमरू प्रधान, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी श्री विनय कुमार, प्रधानाचार्य राजकीय इंटर कॉलेज अगरास श्री सत्यवीर सिंह, प्रधानाचार्य सी.ए.एस. इंटर कॉलेज फरीदपुर सहित अन्य सम्बंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

मंडलायुक्त श्रीमती सेल्वा कुमारी जे को संयुक्त शिक्षा निदेशक ने अवगत कराया कि भारत सरकार द्वारा देश में 100 नवीन सैनिक स्कूल की स्थापना सैनिक स्कूल सोसायटी के तहत रक्षा मंत्रालय, भारत सरकार के अधीन पीपीपी मॉडल पर किया जाना है, जिसके क्रम में 100 के सापेक्ष 16 सैनिक स्कूल उत्तर प्रदेश में स्थापित किए जाने की अपेक्षा माननीय मुख्यमंत्री जी के द्वारा की गई है, सैनिक स्कूल में निर्धारित पाठयक्रम के अतिरिक्त शारीरिक दक्षता, खेल-कूद, ड्रिल आदि के लिए पर्याप्त खेल के मैदान की आवश्यकता होगी। संयुक्त शिक्षा निदेशक ने अवगत कराया कि अनावासीय सैनिक स्कूल के लिए न्यूनतम 6 एकड़ तथा आवासीय सैनिक स्कूल हेतु न्यूनतम 8 एकड़ की भूमि की आवश्यकता होगी। सैनिक स्कूल के लिए जनपद के राजकीय इंटर कॉलेज अगरास, तहसील मीरगंज एवं सी.ए.एस. इंटर कॉलेज, फरीदपुर को सैनिक स्कूल में परिवर्तित किए जाने की सूचना पूर्व में शासन को प्रेषित की जा चुकी है।

मंडलायुक्त श्रीमती सेल्वा कुमारी जे ने संयुक्त शिक्षा निदेशक को निर्देश दिए कि जनपद में सैनिक स्कूल की स्थापना हेतु भूमि के सम्बन्ध में अपर जिलाधिकारी प्रशासन से चर्चा कर ली जाए। मंडलायुक्त ने निर्देश दिए कि राजकीय इंटर कॉलेज अगरास तथा सी.ए.एस. इंटर कॉलेज फरीदपुर दोनों कॉलेजों की भूमि से संबंधित उप जिला अधिकारियों के माध्यम से लेखपाल द्वारा पैमाइश करा ली जाए। मंडलायुक्त ने यह भी निर्देश दिए कि सैनिक स्कूल की स्थापना हेतु शीघ्र भूमि को चिन्हित किया जाए।

बरेली से ए सी सक्सेना की रिपोर्ट

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper