सोने से पहले भूलकर भी न करें बिस्तर की सफाई नहीं तो…

नई दिल्ली: वास्तु एक ऐसा माध्यम है जिसके सिद्धान्तों पर चलकर मनुष्य अपने जीवन को सुखी, समृद्ध, शक्तिशाली और निरोगी बना सकता है। आज आपको वास्तु सम्मत से जुडी कुछ उपयोगी जानकारी देने जा रहे हैं जिसका पालन कर आप अपने घर को सुखी व समृद्धशाली बना सकते हैं। ज्यादातर घरों में सुबह के समय सफाई करने की परंपरा होती है, जो अच्छी आदत है। ना सिर्फ यह घर में सकारात्मक ऊर्जा को बढ़ावा देता है, बल्कि इससे परिवार के सभी सदस्य मानसिक तथा शारीरिक दोनों ही प्रकार से स्वस्थ रहते हैं।

हिंदू धार्मिक परंपराओं के अनुसार संध्या के समय घर में झाड़ू लगाना या साफ-सफाई करना दरिद्रता को आमंत्रण देने के समान माना गया है। इसके अनुसार शाम के समय जिस घर में सफाई होती है वहां लक्ष्मी कभी निवास नहीं करतीं। शायद आपने कभी सोचा नहीं होगा लेकिन इसका एक वैज्ञानिक पहलू भी है जो रात्रि में सोने से पूर्व बिस्तर की सफाई करने से नुकसान होने को पुख्ता करता है।

सफाई करते हुए धूल और गंदगी उड़कर हवा में मिल जाते हैं। थोड़े वक्त के लिए सफाई की गई जगह की हवा एक प्रकार से बाहर की हवा से अधिक प्रदूषित होती है। उस सीमित वायुमंडल में उड़ते उन धूल कणों को स्थिर होने में थोड़ा समय लगता है। इसलिए उतनी देर वहां रहने वाले लोगों की ना सिर्फ सांसों में धूल-कण जाते हैं, बल्कि शरीर और कपड़ों पर भी वे जमने लगते हैं जो अगर नहीं हटाए गए तो स्वास्थ्य पर इसका बुरा प्रभाव पड़ सकता है। यह लगातार आपकी सांसों के माध्यम से शरीर में प्रवेश करेगा और एलर्जी जैसी कई समस्याएं पैदा करेगा।

सुबह की सफाई इसलिए नुकसानदेह नहीं है क्योंकि इस समय अमूमन हर व्यक्ति स्नान करता है, इस प्रकार उन धूल कणों से आप छुटकारा पा लेते हैं। लेकिन रात्रि में जब आप सोने से ठीक पहले बिस्तर की सफाई करते हैं तो वहां जमे धूल के कण हवा में तैरने लगते हैं, पर आप उस समय स्नान नहीं करते हैं और बंद कमरा होने के कारण वहां फ्रेश हवा भी नहीं आ पाती। इस प्रकार आपके कमरे की हवा में तैर रहे धूल-कण अगर स्थिर हो भी जाएं, तो आपके कपड़ों और शरीर के खुले हिस्सों से आप इसे हटा नहीं पाते। नतीजा यह होता है कि कपड़ों पर चिपके धूल के कण और गंदगी पूरी रात आपकी सांसों के जरिए शरीर में प्रवेश कर बिमारियों को निमंत्रण दे देते हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper