सोने से भी ज्यादा कीमती है यह पौधा, अगर कही दिख जाएँ तो गलती से भी नजरअंदाज न करे

नई दिल्ली: कहते है कि पेड़ पौधे लगाने से न केवल हमारे आस पास का वातावरण खुशनुमा रहता है, बल्कि इससे हमारा मन भी प्रसन्न रहता है. अब इसमें तो कोई शक नहीं कि पेड़ पौधे न केवल हमें छाया देते है बल्कि खाने के लिए फल भी देते है. इसके इलावा पेड़ पौधे लगाने से हमारे चारो तरफ हरियाली का माहौल बना रहता है. यही वजह है कि हर व्यक्ति को अपने आस पास पेड़ पौधे जरूर लगाने चाहिए. हालांकि आज हम आपको एक ऐसे पौधे के बारे में बताने जा रहे है, जो बेहद कीमती है. यक़ीनन इस पौधे के बारे में जानने के बाद आप भी हैरान रह जायेंगे.

इसलिए अगर आपको कभी ये पौधा दिखाई दे, तो गलती से भी इसे नजर अंदाज न करे. गौरतलब है कि बहुत से पौधे ऐसे होते है, जो कई तरह के औषधीय गुणों से भरपूर होते है. यानि ऐसे पौधे जिनका इस्तेमाल औषधियां बनाने के लिए किया जाता है. बता दे कि पहले के समय में दवाईयां बनाने के लिए इन्ही पेड़ पौधों का इस्तेमाल किया जाता था या यूँ कहे कि जड़ी बूटियां बनाने के लिए इन पेड़ो की पत्तियों का इस्तेमाल किया जाता था. हालांकि आज के समय में लोग केमिकल से बनी दवाईयों पर ज्यादा यकीन रखते है.

यही वजह है कि आज के समय में लोग विदेशी दवाईयों का इस्तेमाल ज्यादा करते है. बरहलाल आज हम आपको एक ऐसे पौधे के बारे में बताने जा रहे है, जिसमे औषधीय गुण काफी अधिक मात्रा में पाएं जाते है. यक़ीनन आप भी इस चमत्कारी पौधे के बारे में जरूर जानना चाहते होंगे. तो चलिए अब आपको इसके बारे में पूरी जानकारी देते है.

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि आम भाषा में इस पौधे को लोहड़ी कहा जाता है. हालांकि बहुत से लोग ऐसे भी है, जिन्हे इस पौधे के बारे में कोई जानकारी ही नहीं है. यही वजह है कि वो लोग इसे कचरा समझ कर फेंक देते है. इसलिए आज हम आपको इस पौधे के बारे में पूरी जानकारी देना चाहते है, ताकि आप इसे दोबारा कचरा समझ कर फेंकने की गलती न करे. गौरतलब है कि यह एक ऐसा पौधा है, जो आसानी से हमारे घर के आस पास ही मिल जाता है. जी हां यहाँ तक कि इस पौधे के इस्तेमाल से कई तरह की बीमारियों से छुटकारा पाया जा सकता है. बता दे कि इस पौधे में विटामिन्स, प्रोटीन, कैल्शियम और विटामिन के इन सब के इलावा भी कई तरह के खनिज तत्व पाएं जाते है.

इसके इलावा इस पौधे की इम्युनिटी भी बहुत ज्यादा होती है. यही वजह है कि यह पौधा केवल एक या दो साल नहीं बल्कि पच्चीस सालो तक जिन्दा रह सकता है. इसके साथ ही इस पौधे का इस्तेमाल करने से कैंसर जैसी बीमारी होने की सम्भावना भी काफी कम हो जाती है. वो इसलिए क्यूकि इसमें मौजूद तत्व हमें कैंसर जैसी बीमारी से लड़ने में मदद करते है. गौरतलब है कि यह न केवल शरीर की हड्डियों को मजबूत बनाता है, बल्कि शरीर में खून की कमी को भी पूरा करता है. ऐसे में व्यक्ति दिल से जुडी बीमारियों से भी बचा रहता है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper