सोशल मीडिया पर भिड़े कपिल और विधायक सौरभ

नई दिल्ली: सोशल मीडिया पर दिल्ली सरकार के पूर्व मंत्री व विधायक कपिल मिश्रा और आम आदमी पार्टी (आप) के विधायक सौरभ भारद्वाज के बीच तीखी जंग हुई। एक दूसरे को ट्वीट व री-ट्वीट के बीच जेल भेजने, भ्रष्ट केजरीवाल, उठक-बैठक लगाने, कहके लेगें, छाती पर चढ़कर मूंग दलना जैसे शब्दों का एक दूसरे में जमकर इस्तेमाल किया है। सोशल मीडिया पर इस तीखी जंग की शुरुआत दरअसल आप विधायक सौरभ भारद्वाज के एक री-ट्वीट से हुई।

शुक्रवार सुबह कपिल ने अपना ट्वीटर हैंडल जिसमें ‘आप’ शब्द जुड़ा था उसे बदला और उसकी जगह ‘इन चेंज करने से जुड़ा एक ट्वीट किया था। सौरभ ने इसे री-ट्वीट करते हुए कपिल को आप से इस्तीफा देकर दुबारा चुनाव लड़े की सलाह दी। इस पर कपिल ने चेतावनी दी कि ‘झंडू बाम के खाली डिब्बे सौरभ भारद्वाज, हिम्मत है तो केजरीवाल से कहो कि मुझे पार्टी से निकाल कर दिखाए, अभी तो विधानसभा में बहुत कुछ खोलना है भ्रष्ट केजरीवाल का। ऐसे ही मूंग दलूंगा छाती पर। केजरीवाल और जैन को जेल भेजने तक।

सौरभ भारद्वाज का इस पर तुरंत जवाब आया कि ‘भैया याद है-मैंने असेंबली में वोटिंग करवाई थी, सब विधायक और पत्रकार तुम्हें देख रहे थे। फिर आपको इसी खाली डिब्बे के इशारे कर उठक-बैठक लगानी पड़ी थी। निकालेंगे नहीं तुम्हें, कहके लेंगे।’ अब बारी कपिल की थी। उन्होंने लिखा कि ‘हमेशा विपक्ष मांगता था मुख्यमंत्री व मंत्रियों का इस्तीफा। यहां पूरी सरकार मिलकर एक विधायक का इस्तीफा मांग रही है। डंके की चोट पर विधानसभा में कहूंगा केजरीवाल भ्रष्ट है और व्हीप के साथ वोट भी करूंगा। भ्रष्ट केजरीवाल डाल-डाल तो कपिल मिश्रा पात पात? अब समझे-छाती पर चढ़कर मूंग दलना।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper