स्वयंसेवकों से अभद्रता करने वाले थानाध्यक्ष समेत तीन पुलिसकर्मी लाइन हाजिर

लखनऊ। लखनऊ के गौतमपल्ली थाना क्षेत्र में दो पक्षों में कहासुनी के बाद थाने पहुंचे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवकों से अभद्रता करने वाले थानाध्यक्ष विजयसेन सिंह समेत तीन पुलिसकर्मी लाइन हाजिर कर दिये गये।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार के निर्देशानुसार किसी भी थानाध्यक्ष, प्रभारी निरीक्षक या प्रमुख पुलिस अधिकारियों को थाने पर आने वाले प्रार्थी से बातचीत कर मामले का निपटारा करने की हिदायत दी गयी है। बावजूद इसके गौतमपल्ली थानाध्यक्ष विजय सेन के पास एक मामले को लेकर पहुंचे संघ के स्वयंसेवकों से अभद्रता की गयी। उनके थाने पहुंचने से पहले जियामऊ के चौकी इंचार्ज विनय शर्मा एवं कांस्टेबल मोहम्मद गुलाम ने भी अभद्र व्यवहार किया।

बुधवार को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के आदेश पर स्वयंसेवकों से अभद्रता करने वाले थानाध्यक्ष विजय सेन सिंह, चौकी इंचार्ज विनय शर्मा और कांस्टेबल मोहम्मद गुलाम को लाइन हाजिर कर दिया गया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने बताया कि स्वयंसेवकों के थाने पर जाने के बाद उनकी बातों को नहीं सुनने की शिकायत आयी थी। जब पुलिसकर्मियों द्वारा अभद्रता किये जाने की बात की भी पुष्टि हो गयी,तो लाइन हाजिर करने की कार्यवाही की गयी।

वहीं स्वयंसेवकों ने बताया कि जियामऊ में मामूली कहासुनी को दूसरे पक्ष ने विवाद की शक्ल देने के लिए थाने में तहरीर दे दी। जिस पर वहां स्वयंसेवकों को बुलाया गया। जहां जाने पर थाने में पहले से मौजूद चौकी इन्चार्ज विनय शर्मा और कांस्टेबल मोहम्मद गुलाम ने उन्हें जबरन बैठा लिया और जाने से मना कर दिया।

इस पर स्वयंसेवकों ने संगठन के वरिष्ठ लोगों को जानकारी दी और जब उन्होंने थानाध्यक्ष से बात की, तो उन्होंने खुद के दूसरे स्थान पर मौजूद होने का हवाला देते हुए पल्ला झाड़ने की कोशिश की, जबकि उन्हें मामले की पूरी जानकारी थी। इस मामले में अभद्रता करने वाले दरोगा चन्द्रभान सिंह अभी थाने पर तैनात ही है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper