सड़क पर फर्राटा भरने वालों पर ट्रैफिक पुलिस की नकेल, 3883 लोगों के चालान काटे

लखनऊ : एक तरफ कोरोना वायरस को मात देने के लिए समूचे देश में लॉकडाउन है, तो दूसरी ओर कुछ कुछ रसूखदारों को यह रास नहीं आ रहा है। वे अपने रसूख के बल पर सड़कों पर फर्राटा भरने निकल रहे हैं। लखनऊ पुलिस कमिश्नरेट द्वारा जारी चार पहिया पर दो लोग और दो पहिया पर एक व्यक्ति की एडवायजरी को भी कुछ लोग नहीं मान रहे। ऐसे लोगों के खिलाफ ट्रैफिक पुलिस ने अभियान चलाकर सख्ती शुरू की है। इस अभियान के दौरान न तो पुलिसकर्मियों से लेकर नेताओं तक के चालान काटे जा रहे हैं। महज तीन दिनों के भीतर 3883 लोगों के चालान काटे जा चुके हैं, जबकि पांच वाहनों को सीज कर दिया गया है।

दरअसल ट्रैफिक पुलिस द्वारा शुरू किये गए अभियान में हर रोज 40 चौराहों को चिन्हित कर सख्ती शुारू की गई। इन चौराहों में कटाई पुल, सदर बाजार, बारा बिरवा, सेक्टर 18, राणा प्रताप चौराहा, उतरेठिया, डालीगंज, आईटी चौराहा, टेढ़ी पुलिया, पीजीआई, मवैया, पॉलीटेक्निक चौराहा, चिनहट, परिवर्तन चौक, रकाबगंज, अलीगंज, खुर्रमनगर, तेलीबाग, रविंद्रालय, भिठौली, इंजीनियरिंग कॉलेज चौराहा, सेक्टर 25, विजयीपुर, शहीद पथ, कृष्णानगर, आलमबाग चौराहा, महाराणा प्रताप चौराहा और हजरतगंज चौराहा शामिल हैं।

इस दौरान सड़क पर बेवजह निकलने वालों के अलावा ऐसे पास धारकों पर भी कार्रवाई की गई, जो लखनऊ पुलिस कमिश्नरेट की उस एडवायजरी जिसमें चार पहिया पर दो व्यक्ति व दो पहिया पर एक व्यक्ति के ही चलने की इजाजत है, का मखौल उड़ा रहे हैं। इस कार्रवाई की जद में पुलिसकर्मी, नेता और पूर्व विधायक भी आए। हालांकि, इन सभी ने ट्रैफिक पुलिस पर रौब गांठने की भरपूर कोशिश की लेकिन, उनकी एक न चली और चालान या वाहन सीज किये गए।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper