सड़क हादसे के बाद पहली बार बोलीं उन्नाव रेप पीड़िता, ‘कुलदीप सेंगर ने ही रची थी मुझे मारने की साजिश’

उन्नाव: सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल हुई उन्नाव रेप पीड़िता की हालत अब स्थिर है। कुछ दिनों पहले ही सीबीआई को उन्होंने अपना बयान दर्ज कराया है और अब उन्होंने एक अंग्रेजी अखबार से बातचीत की है जिसमें पीड़िता ने विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर आरोप लगाते हुए कहा, ‘कुलदीप सिंह सेंगर ने ही रायबरेली हाइवे पर हुए ऐक्सिडेंट में मुझे मारने की साजिश रची थी। इस बात पर कोई शक नहीं है।’

19 वर्षीय पीड़िता ने यह भी बताया कि ऐक्सिडेंट से पहले उसे सेंगर का एक गुर्गा उन्नाव कोर्ट परिसर में आकर अक्सर जान से मारने की धमकी देता था। सेंगर के साथी की मां भी रेप मामले में आरोपी है। पीड़िता ने बताया, ‘जब भी मेरे गार्ड को कोर्टरूम के बाहर खड़े रहने का आदेश दिया जाता था तो सेंगर का गुर्गा आकर मुझसे अपनी मां के खिलाफ केस वापस लेने को कहता था और जान से मारने की धमकी देता था।’

हादसे के दिन का जिक्र करते हुए पीड़िता ने बताया, ‘मैंने देखा कि ट्रक हमारी कार को रौंदने के लिए सीधा हमारी तरफ आ रहा है। सेंगर ने मुझे मारने के लिए इस साजिश को अंजाम दिया। वह कैद में रहकर भी किसी भी हद तक जा सकता है। मेरे वकील जो गाड़ी चला रहे थे उन्होंने कार को बैक करने की कोशिश की तांकि बचा जा सके। लेकिन ऐसा करने से पहले ट्रक कार को टक्कर मार चुका था। मुझे अभी भी दर्द है और चल भी नहीं सकती हूं।’

पीड़िता की मां ने बताया कि सीबीआई के अधिकारी दो बार अस्पताल आ चुके हैं। पहले उन्हें नोट्स बनाए और बाद में उसी बयान का वीडियो बनाया। उन्होंने सड़क हादसे के बारे में पूछा कि किस तरह से यह हादसा हुआ।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper