हंगामे के कारण लोकसभा में विलंब से शुरू हुआ प्रश्नकाल

नई दिल्ली: लोकसभा में कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस के हंगामे और नारेबाजी के कारण प्रश्नकाल की कार्यवाही में बाधा उत्पन्न हुई। लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन के आग्रह के बाद दोनों दलों के सदस्य शांत हुए और उसके बाद प्रश्नकाल की कार्यवाही पूरी हो सकी।

गुरूवार को लोकसभा की बैठक शुरू होते ही अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने आंध्र प्रदेश के 11वीं लोकसभा के सदस्य रहे सेदैया कोटा के निधन की जानकारी सदस्यों को दी। उसके बाद उन्होंने पिछले दिनों महाराष्ट्र के रायगढ़ में बस के खाई में गिर जाने के 33 लोगों की मौत की दुखद घटना से भी सदस्यों को अवगत कराया। सदस्यों ने कुछ देर मौन रखकर मृत लोगों को श्रद्धांजलि दी।

लोकसभा अध्यक्ष ने इसके बाद प्रश्नकाल की कार्यवाही शुरू की तो कांग्रेस के मल्लिकार्जुन खड़गे ने दलितों से जुड़े मुद्दों को लेकर अपनी बात रखने की कोशिश की। इसी बीच तृणमूल कांग्रेस के सौगत राय भी असम में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) का मुद्दा उठाने लगे। महाजन ने खड़गे को प्रश्नकाल के बाद अपनी बात रखने को कहा। इस पर कांग्रेस के सदस्य अध्यक्ष के आसन के समीप आ गए और नारेबाजी करने लगे। उधर तृणमूल कांग्रेस के सदस्य भी एनआरसी के मुद्दे को लेकर वेल में उतर आए और नारेबाजी करने लगे।

लोकसभा अध्यक्ष द्वारा खड़गे और सौगत राय को प्रश्नकाल के बाद बोलने का अवसर दिए जाने के आश्वासन के बाद दोनों दलों के सदस्य अपनी सीट पर लौटे और उसके बाद प्रश्नकाल की कार्यवाही शुरू हो सकी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper