हनुमान जयन्ती पर केसरियां रंग में रंगी काशी

वाराणसी: बाबा विश्वनाथ की नगरी चैत्र पूर्णिमा शनिवार को केसरियां रंग में रंगी हनुमत प्रभु की आराधना में डूबे रहे। हनुमत जयंन्ती पर चहुंओर मंगल मूरती मारूति नंदन, सकल अमंगल मूल निकंदन,जय हनुमान ज्ञान गुण सागर, जय कपिश तिहु लोक उजागर की गूंज गली मोहल्लों चौराहों पर स्थित हनुमत मंदिरों में रही।

बच्चें बुढ़े युवा और महिलाएं पवनसुत की भक्ति में आहलादित रहे। भोर से ही मंदिरों की साफ सफाई कर बजरंग बली को सिन्दुर लेपन कर तुलसी और गुलाब की माला से श्रृंगार किया गया। भोग आरती के बाद सूर्योदय की लालिमा के बीच दर्शन पूजन का अनवरत सिलसिला चलता रहा जो देर रात जाकर थमेगा।

उधर श्री संकटमोचन दरबार में अलसुबह से हनुमज्जयन्ती समारोह का आगाज भी हो गया। भोर में श्री संकटमोचन दरबार का विधि विधान और नये परिधान के बीच बैठकी मुद्रा का विशेष श्रृंगार कियाा गया। आरती पूजन के बाद सूर्योदय की लालिमा में दर्शन पूजन बैठकी की झांकी श्रृंगार को निरखने के लिए जनसैलाब उमड़ पड़ा। पूर्वांन्ह में दरबार में रूद्राभिषेक,श्री रामचरित मानस का एकान्ह पाठ सीताराम संकीर्तन से अध्यात्म और भक्ति की बारिश होने लगी। दरबार में हाजिरी लगाने वाले श्रद्धालु भक्ति भाव में आंखे मूद पवन सुत से बल बुद्धि के साथ परिवार में मंगलकामना श्री समृद्धि की गुहार भी लगाते रहे।

उधर नगर के कई हिस्सो से भव्य हनुमत ध्वजा प्रभात फेरी भी निकलती रही । लगभग एक किमी लम्बी दूरी तक हनुमान भक्तो की कतार बजरंगी पताका लेकर इसमें शामिल होती रही। इसमें युवाओं के साथ महिलाओ ने भी बड़ी संख्या में शिरकत की।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper