हरदोई में 63 यूपी बटालियन एनसीसी द्वारा वीर नारियों को सम्मानित किया गया

लखनऊ: 63 यूपी बटालियन, एनसीसी ने देश की सेवा में अपने प्राणों की आहुति देने वाले हमारे बहादुर सैनिकों के परिजनों को सम्मानित किया। समारोह का आयोजन शासकीय इंटर कॉलेज हरदोई में किया गया।

इस कार्यक्रम में जिन वीरनारी/परिजन को सम्मानित किया गया उनमें गार्ड्समैन भगवान सरन जिन्होंने 24 अप्रैल 1996 को सर्वोच्च बलिदान दिया था, कि पत्नी श्रीमती नानी देवी, लांस नायक हरि सिंह जिन्होंने 20 अगस्त 1999 को सर्वोच्च बलिदान दिया था, कि पत्नी श्रीमती राजेश्वरी देवी,सिपाही बंसीलाल जिन्होंने 30 जुलाई 1992 को सर्वोच्च बलिदान दिया था, कि पत्नी श्रीमती राम देवी, ग्रेनेडियर रामबीर सिंह जिन्होंने 18 फरवरी 1985 को सर्वोच्च बलिदान दिया था, के पुत्र श्री शिशुपाल सिंह और ग्रेनेडियर बासुदेव जिन्होंने 19 दिसंबर 1988 को सर्वोच्च बलिदान दिया था, कि पत्नी श्रीमती राज रानी शामिल थीं।

63 यूपी बटालियन एनसीसी के सूबेदार मेजर ए थंगराज और सरकारी इंटर कॉलेज के प्रिंसिपल टीआर वर्मा द्वारा सभी वीर नारियों और और उनके परिजनों को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया। इस दौरान स्टाफ, एसोसिएट एनसीसी अधिकारी (एएनओ) और 40 एनसीसी कैडेट मौजूद थे। इस अवसर पर वीर नारियों ने अपने जीवनसाथी के निस्वार्थ बलिदान को एनसीसी द्वारा याद किए जाने और सम्मानित किए जाने पर गर्व व्यक्त किया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper