‘हरामखोर लड़की’ कहने पर शिवसेना नेता संजय राउत की सफाई, बोले- नॉटी गर्ल हैं कंगना रनौत

मुंबई: बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत को ‘हरामखोर’ कहकर घिरे शिवसेना सांसद संजय राउत ने अपने बयान पर सोमवार को सफाई पेश की। उन्होंने हरामखोर शब्द पर कहा कि महाराष्ट्र में इसका दूसरा मतलब होता है। यहां पर इसका मतलब नॉटी और बेईमान होता है। संजय राउत ने कहा, ‘अगर कोई राजनीति करना चाहता है या फिर माहौल बनाना चाहता है तो किसी भी शब्द का कोई भी मतलब निकाला जा सकता है।

हमारे महाराष्ट्र में जब भी बात करते हैं तो हरामखोर का मतलब नॉटी और बेईमान बताते हैं। वह (कंगना) नॉटी गर्ल है। मैंने देखा और पढ़ा है कि वह मजाक करती हैं। मैंने अपनी भाषा में कंगना को बेईमान कहा।’ वहीं, 9 सितंबर को कंगना के मुंबई आने पर शिवसेना सांसद ने एक निजी न्यूज चैनल से कहा, ‘हमने कभी भी उन्हें रोका नहीं था। उन्होंने खुद कहा था कि मुझे विश्वास नहीं है। ऐसे में अगर उन्हें विश्वास नहीं है तो फिर क्यों आ रही हैं?’

राउत ने कंगना रनौत के उस बयान पर भी प्रतिक्रिया दी, जिसमें एक्ट्रेस ने कहा था कि मुंबई में उनकी जान को खतरा है। राउत ने कहा, ‘एक व्यक्ति पूरी इंडस्ट्री नहीं है। फिर चाहे वह महिला हो या फिर पुरुष कलाकार हो, एक व्यक्ति इंडस्ट्री नहीं है। दादा साहेब फाल्के से लेकर अमिताभ बच्चन तक, किसी ने भी मुंबई पुलिस को लेकर कोई शिकायत नहीं की है।’

बॉलीवुड इंडस्ट्री में ड्रग्स के इस्तेमाल के आरोप पर भी संजय राउत ने प्रतिक्रिया दी। राउत ने कहा, ‘कोई भी व्यक्ति आरोप लगाता है तो उन्हें सबूतों के साथ मुंबई पुलिस से मुलाकात करनी चाहिए। अगर आप मुंबई पुलिस को सबूत नहीं देना चाहते हैं तो फिर हिमाचल प्रदेश, ओडिशा में पुलिस को दे सकते हैं। कई अन्य एजेंसियां भी हैं, उन्हें दे दीजिए।’ शिवसेना सांसद ने कहा मुंबई समेत किसी भी पुलिस को लेकर कोई इस तरह का अविश्वास नहीं दिखा सकता है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper