हरिद्वार दर्शन के बहाने साले की बीबी के साथ किया दुराचार, और अब….

लखनऊ: हरिद्वार तीर्थ दर्शन के दौरान साले की पत्नी से दुराचार एवं छेड़खानी करने एवं घटना से आहत साले अजय एवं उसकी पत्नी रुचि द्वारा आत्महत्या करने के मामले में आरोपी जीजा धम्रेश द्विवेदी की जमानत अर्जी सत्र न्यायाधीश नरेन्द्र कुमार जौहरी ने खारिज कर दी है।

जमानत अर्जी का विरोध करते हुए सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता प्रमोद कुमार श्रीवास्तव का तर्क था कि इस घटना की रिपोर्ट मृतक अजय दीक्षित के पिता ने इटौंजा थाने पर दर्ज करायी थी जिसमें कहा गया है कि अजय दीक्षित अपनी पत्नी रुचि को लेकर चचेरे बहनोई धम्रेश द्विवेदी के साथ 16 अक्टूबर 2017 को हरिद्वार घूमने एवं दर्शन करने गया था।

कहा गया है कि हरिद्वार से लौटकर आने पर अजय दीक्षित गुमशुम रहने लगा तथा 18 अक्टूबर को जहर खाकर आत्महत्या कर ली। बहस के दौरान कहा गया कि मृतक अजय दीक्षित ने अपनी मां के नाम पत्र लिखा था जिसमें उसने कहा है कि तीर्थयात्रा के दौरान धम्रेश द्विवेदी ने रास्ते में जगह-जगह उसकी पत्नी से अश्लील हरकतें कीं तथा मौका पाकर उसके साथ दुराचार किया।

जिससे उसे मानसिक पीड़ा पहुंची। अजय दीक्षित की मृत्यु के अगले दिन अपमानित रुचि ने भी फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। अदालत ने मामला गम्भीर पाते हुए जमानत अर्जी खारिज कर दी है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper