हाईवोल्टेज करंट से युवा व्यवसायी की मौत, गुस्साई भीड़ ने किया हंगामा, पुतला फूंका लगाया जाम

सोनभद्र: पन्नूगंज थाना क्षेत्र के रामगढ़ बाजार स्थित नहर के पास शुक्रवार की देर रात एलटी लाइन में प्रवाहित हो रहे हाई वोल्टेज करंट की चपेट में आकर एक युवा व्यवसायी की मौत हो गई। इससे खफा परिवारीजनों और कस्बावासियों ने शनिवार की सुबह जमकर हंगामा किया। बिजली विभाग के अधिकारियों को इसके लिए जिम्मेदार ठहराते हुए जहां उनका पुतला फूंका। वहीं वाराणसी-शक्तिनगर मार्ग जाम कर, दोषियों पर कार्रवाई और पीड़ित परिवार को दस लाख मुआवजे तथा एक सदस्य को नौकरी की मांग को लेकर खासी नारेबाजी की।

इसके चलते करीब तीन घंटे तक आवागमन ठप रहा। सदर विधायक भूपेश चैबे, एक्सईएन विद्युत सर्वेश सिंह, सदर एसडीएम और सीओ सदर राहुल पांडेय ने लोगों को कार्रवाई और पीड़ित परिवार को मदद दिलाने का भरोसा दिया, तब जाकर लोग किसी तरह शांत हुए। बताते हैं कि नहर के पास स्थित उपकेंद्र से जुड़ा हाइवोल्टेज तार टूटकर एलटी लाइन पर गिर गया। इससे एलटी लाइन में हाई वोल्टेज करंट प्रवाहित हो गया। इससे जहां कई लोगों के

इलेक्ट्रानिक उपकरण फूंक गए। वहीं अपनी बर्तन दुकान से एक बर्तन लेकर घर के अंदर जा रहा रवि उर्फ विक्की मोदनवाल 25 वर्ष पुत्र सुरेंद्र, दरवाजे पर लगे लोहे के चैखट से छूने के कारण, जिसमें घटना के वक्त हाई वोल्टेज प्रवाहित हो रहा था, करंट की चपेट में आकर चिपका रह गया। यह देख परिवार के लोग सन्न रह गए। उसे छुड़ाने की कोशिश की लेकिन कामयाबी नहीं मिली। तत्काल क्षेत्रीय जेई और रामगढ़ उपकेंद्र पर काल की गई लेकिन किसी ने काल रिसीव नहीं की। कुछ देर बाद लाइन खुद ब खुद ट्रिप कर गई लेकिन तब तक विक्की की मौत हो गई। रामगढ़ के लोगों का आरोप है कि घटना के बाद भी क्षेत्रीय जेई एवं बिजली विभाग के अन्य अधिकारियों को कई बार रिंग की गई लेकिन

किसी ने न तो काल रिसीव की, न ही मौके पर बिजली विभाग का कोई कर्मी ही पहुंचा। पास-पड़ोस के लोगों ने हाई वोल्टेज करंट के प्रवाह से डरते हुए रात गुजारी। इसके बाद सुबह साढ़े सात बजे के करीब बिजली विभाग के अधिकारियों का पुतला रहन करते हुए, रामगढ़ नहर के पास राबटर्सगंज-खलियारी मार्ग जाम कर दिया। जब इसकी जानकारी पुलिस और प्रशासनिक अमले को मिली तो हड़कंप मच गया। पन्नूगंज थानाध्यक्ष राजेश कुमार सिंह, रायपुर थानाध्यक्ष नागेश कुमार सिंह जहां पुलिस फोर्स के साथ पहुंच गए। वहीं सीओ सदर राहुल पांडेय भी पहुंचकर लोगों को

समझा-बुझाने में जुट गए लेकिन नाराजगी जता रहे लोग डीएम को बुलाने, दोषी जेई सहित अन्य पर कार्रवाई करने तथा पीड़ित परिवार को दस लाख का मुआवजा और एक सदस्य को नौकरी देने की मांग पर अड़े रहे। जानकारी मिलते ही सदर विधायक भूपेश चैबे, एक्सईएन सर्वेश सिंह और एसडीएम रमेश पहुंच गए और परिवारजनों तथा कस्बे के लोगों को दोषियों पर कार्रवाई तथा पीड़ित परिवार को ज्यादा से ज्यादा मदद का भरोसा देकर, किसी तरह शांत कराया।

रविंद्र केसरी की रिपोर्ट

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper