हिम्मत से हराया कोरोना को, जानिये कैसे जीती जंग

लखनऊ : कोरोना वायरस से जंग जीतने वालों में शामिल लखीमपुर खीरी के मैगलगंज निवासी व व्यवसायी उमाशंकर पांडेय भी हैं। 52 वर्षीय उमाशंकर पांडेय तुर्की गए थे। 8 मार्च को लौटकर आए, तो जुकाम-बुखार ने घेर लिया। आसपास दिखाया, लेकिन राहत नहीं मिली। केजीएमयू में दिखाया, तो कोरोना की पुष्टि हुई। खतरनाक वायरस की शरीर में मौजूदगी से भय व्याप्त हो गया। भूख-प्यास चली गई। हालत गड़बड़ाने लगी। डॉक्टरों ने ढांढस बंधाया। ऐसे में हिम्मत को शस्त्र बनाकर कोरोना से जंग जीत ली।

18 मार्च को केजीएमयू में उमाशंकर की जांच की गई। स्वैब जांच में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई। उमाशंकर के मुताबिक कोरोना वायरस की शरीर में मौजूदगी की पुष्टि होते ही खौफ छा गया। भूख-प्यास चली गई। वार्ड में भर्ती होने के दौरान तीन दिन तक खाने का मन ही नहीं हुआ। अकेले कमरे में बंद होन से उलझन सताने लगी। इसके बाद डॉक्टरों ने हिम्मत बंधाई। समझाया कि खानपान से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी। यह वायरस से उबारने में मददगार बनेगी। इसके बाद उमाशंकर ने ठीक से पौष्टिक आहार लेना शुरू किया।

आखिरकार उनकी रिपोर्ट निगेटिव आ गई। ठीक होने के बाद उन्होंने कहा कि कोरोना में साहस और धर्य होना बेहद जरूरी है। अब उमाशंकर पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं। हालांकि अभी उमाशंकर को होम क्वारंटाइन का पालन करना होगा। इस दौरान उन्हें लोगों से मिलने पर रोक होगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper