हैं तैयार हम

लॉकडाउन के चलते पूरा देश घरों में कैद है और अर्थव्यवस्था के पहिए थमे हुए हैं। हालांकि 20 अप्रैल से औद्योगिक गतिविधियां शुरू हो जाएंगी। लेकिन इस दौरान कई बड़े उद्योगपतियों को काफी नुकसान उठाना पड़ा है। अब इन उद्योगपतियों का कहना है कि सरकार काम शुरू कराये, हम तैयार हैं। आइये जानते है कुछ बड़े उद्योगपतियों के विचार।

दीप कालरा (एग्जीक्यूटिव चेयरमैन, मैक माइ ट्रिप) : लॉकडाउन का फैसला जरूरी था, लेकिन अब उद्योग को शुरू करने के बारे में भी सोचना चाहिए। ट्रैवल और टूरिज्म सेक्टर सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ है। लॉकडाउन हटने के बाद भी यह सेक्टर सबसे लास्ट में खुलेगा। ट्रैवल और टूरिज्म से करीब 4 करोड़ लोग प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से जुड़े हैं।

विनीत जैन (सीईओ, बिग बाजार) : हम अपने कारोबार स्थल को सैनेटाइज कर रहे हैं और कर्मचारियों को डिटेलिंग के बाद ही वर्कप्लेस पर आने की अनुमति दे रहे हैं। अब लॉकडाउन के बीच में ही रास्ता बनाना होगा, ताकि बड़ा नुकसान से बचा जाए।

अजय बिजली (चेयरमैन, पीवीआर) : सिनेमाहॉल तो सबसे लास्ट में खुलेगा, यह तो तय है। कोरोना की वजह से फिल्म इंडस्ट्री सबसे ज्यादा प्रभावित है, रियल एस्टेट भी प्रभावित है, क्योंकि मॉल बंद हैं। करीब 2 लाख लोग इस फील्ड से जुड़े हैं। लोग फिल्म देखना चाहते हैं, लोग घर से बाहर निकलना चाहते हैं। लेकिन कम से कम 3 से 6 महीने जिंदगी को दोबारा पटरी पर लौटने में वक्त लग जाएगा। एक सोशल डिस्टेंसिंग मेनटेंन करते हुए मल्टीप्लेक्स को शुरू करने के बारे में सोच सकते हैं।

रितेश अग्रवाल (फाउंडर, ओयो रूम) : सोशल डिस्टेंसिंग के साथ काम को शुरू करने के लिए सरकार रोडमैप सामने लाना चाहिए। कोरोना के बाद इंडस्ट्रीज को बदलाव के लिए तैयार रहना होगा। जो बदलाव करेगा वही सर्वाइव कर पाएगा।

अर्जुन शर्मा (चेयरमैन, सेलेक्ट ग्रुप) : देश के अंदर 600 मॉल हैं, लेकिन सभी बंद पड़े हैं। सभी रिटेलर के साथ बात चल रही है। सरकार के साथ बात चल रही है। मॉल सुरक्षित हैं, जहां सोशल डिस्टेंसिंग को लागू कर काम को फिर शुरू कर सकते हैं। जिससे लोगों को रोजगार मिलना शुरू हो जाएगा।

सिराज-ए-चौधरी (सीईओ, एनसीएमएल) : अनाज को मंडी में पहुंचाने के बजाय उसे किसानों के घर से उठाने के बारे में सोचना चाहिए। किसानों के खेतों में अनाज तैयार है, लेकिन मजदूर नहीं मिल रहे हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper