हैजा के टीके के लिए हिलेमन, भारत बायोटेक के बीच समझौता

नई दिल्ली: हैजा (कोलेरा) का टीका बनाने के लिए हिलेमन लैबोरेटरीज ने भारत बायोटेक इंटरनेशनल के साथ बुधवार को साझेदारी का एलान किया। हिलेमन लैबोरेटरीज ने एक बयान में कहा कि देश में हैजा रोग से निजात दिलाने के लिए उसने प्रभावी व सस्ता टीका बनाने के लिए भारत बायोटेक इंटरनेशनल के साथ साझेदारी की है। इस टीके को हिलकोल नाम दिया गया है।

हिलेमन लैबोरेटरीज के सीईओ डॉ. देविंदर गिल ने कहा कि इस पर दो चरणों का परीक्षण बांग्लादेश में हो चुका है और अब वह इस पर भारत में परीक्षण करना चाहते हैं। हैजा एक एक्यूट डायरिया संक्रमण है, जो विब्रियो कोलेरा नामक बैक्टीरिया के कारण होता है।कंपनी के अनुसार, भारत में 30 फीसदी आबादी यानी 37.5 करोड़ लोगों को हैजे के प्रकोप का खतरा बना रहता है।

गिल ने कहा, “हिलेमन लैबोरेटरीज को भारत बायोटेक के साथ काम करने का अवसर मिला है, जो भारत में टीके बनाने वाली अग्रणी कंपनी है और लाइसेंस मिलने पर हमारी आधुनिक ओरल कोलेरा वैक्सीन हिलकोल के निर्माण एवं वाणिज्यीकरण के लिए उत्तरदायी होगी।”

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper