हैरतअंगेज: महिला को पीरियड्स के दौरान हुआ तेज दर्द, अस्पताल जाते ही गर्भ से एक के बाद एक निकलने लगे बच्चे

दुनिया में ऐसी कई घटनाएं होती हैं, जिनपर यकीन कर पाना बेहद मुश्किल होता है। आज तक आपने देखा-सुना होगा कि प्रेग्नेंसी के दौरान नौ महीने महिला की जिंदगी में कई तरह के बदलाव आते हैं। महिलाओं का शरीर इस दौरान कई तरह के बदलाव से गुजरता है। लेकिन साउथ डकोटा में रहने वाली एक महिला गर्भवती थी, लेकिन उसे रेगुलर पीरियड्स आ रहे थे। वो अपनी डेली लाइफ रेगुलरली बिता रही थी। सुपरमार्केट में काम करने वाली इस महिला को पीरियड्स के दौरान जब तेज पीठ दर्द हुआ, तब वो अस्पताल पहुंची। जहां पता चला कि जिसे वो पीठ दर्द समझ रही है, वो असल में लेबर पेन है। इसके बाद तुरंत उसे अस्पताल में एडमिट करवाया गया, जहां उसने एक साथ कई बच्चों को जन्म दिया।

हैरान करने वाला ये मामला अमेरिका के साउथ डकोटा से सामने आया। यहां रहने वाली 31 साल की देनेट्टे ग्लिट्ज़ को पता ही नहीं चला कि वो प्रेग्नेंट है। महिला को सीधे लेबर पेन उठा।
<p>देनेट्टे ग्लिट्ज़ अपनी प्रेग्नेंसी के दौरान लगातार वेट लूज कर रही थी और उसके पीरियड्स भी नॉर्मल हर महीने आ रहे थे। ऐसे में उसे प्रेग्नेंसी का शक भी नहीं हुआ।&nbsp;<br /> &nbsp;</p>

देनेट्टे ग्लिट्ज़ अपनी प्रेग्नेंसी के दौरान लगातार वेट लूज कर रही थी और उसके पीरियड्स भी नॉर्मल हर महीने आ रहे थे। ऐसे में उसे प्रेग्नेंसी का शक भी नहीं हुआ।

<p>&nbsp;अचानक उसे पीठ दर्द हुआ। जब दर्द बर्दाश्त से परे हो गया, तब महिला अस्पताल पहुंची। जहां जांच में पता चला कि वो प्रेग्नेंट है और उसके गर्भ में 1 नहीं, बल्कि तीन बच्चे पल रहे हैं। जिनकी डिलीवरी का समय हो चुका था।&nbsp;<br /> &nbsp;</p>

 अचानक उसे पीठ दर्द हुआ। जब दर्द बर्दाश्त से परे हो गया, तब महिला अस्पताल पहुंची। जहां जांच में पता चला कि वो प्रेग्नेंट है और उसके गर्भ में 1 नहीं, बल्कि तीन बच्चे पल रहे हैं। जिनकी डिलीवरी का समय हो चुका था।

<p>&nbsp;देनेट्टे ग्लिट्ज़ को तुरंत एडमिट करवाया गया, जहां सर्जरी के बाद उसने 3 स्वस्थ बच्चों को जन्म दिया। महिला ने बताया कि उसे यकीन ही नहीं हुआ कि वो प्रेग्नेंट है।&nbsp;<br /> &nbsp;</p>

 देनेट्टे ग्लिट्ज़ को तुरंत एडमिट करवाया गया, जहां सर्जरी के बाद उसने 3 स्वस्थ बच्चों को जन्म दिया। महिला ने बताया कि उसे यकीन ही नहीं हुआ कि वो प्रेग्नेंट है।

<p>जब डॉक्टर्स ने महिला को प्रेग्नेंसी के बारे में बताया तो उसने डॉक्टर्स से कहा कि उसके पेट में स्टोन्स हुए हैं, इस कारण उसे दर्द हो रहा है। नाकि पेट में बच्चे पल रहे हैं।&nbsp;</p>

जब डॉक्टर्स ने महिला को प्रेग्नेंसी के बारे में बताया तो उसने डॉक्टर्स से कहा कि उसके पेट में स्टोन्स हुए हैं, इस कारण उसे दर्द हो रहा है। नाकि पेट में बच्चे पल रहे हैं।

<p>लेकिन अल्ट्रासाउंड मशीन में अपने पेट में पल रहे बच्चों को देख महिला के होश उड़ गए। महिला ने देखा कि उसके गर्भ में बच्चे पल रहे हैं। डॉक्टर्स ने उसे जुड़वा बच्चों की बात बताई। लेकिन जब डिलीवरी हुई तो देनेट्टे ग्लिट्ज़ ने तीन बच्चों को जन्म दिया।&nbsp;</p>

लेकिन अल्ट्रासाउंड मशीन में अपने पेट में पल रहे बच्चों को देख महिला के होश उड़ गए। महिला ने देखा कि उसके गर्भ में बच्चे पल रहे हैं। डॉक्टर्स ने उसे जुड़वा बच्चों की बात बताई। लेकिन जब डिलीवरी हुई तो देनेट्टे ग्लिट्ज़ ने तीन बच्चों को जन्म दिया।

<p>&nbsp;देनेट्टे ने डिलीवरी के बाद कहा कि तीन दिन पहले उठे दर्द के बाद ही बच्चों का जन्म होना शॉकिंग है। वो इस पूरे समय पीरियड्स से भी गुजर रही थी और अपनी बॉक्सिंग भी जारी कर रही थी।&nbsp;<br /> &nbsp;</p>

 देनेट्टे ने डिलीवरी के बाद कहा कि तीन दिन पहले उठे दर्द के बाद ही बच्चों का जन्म होना शॉकिंग है। वो इस पूरे समय पीरियड्स से भी गुजर रही थी और अपनी बॉक्सिंग भी जारी कर रही थी।

<p>जिस दिन उसने बच्चों को जन्म दिया, उससे 4 घंटे पहले वो अपने स्टोर में काम कर रही थी। लेकिन अचानक उसके पीठ में दर्द होने लगा। इससे पहले भी कई बार उसे दर्द उठा था, लेकिन उसने इसे प्रेग्नेंसी से बिल्कुल नहीं जोड़ा था। महिला की पहले से दो संतान है।&nbsp;</p>

जिस दिन उसने बच्चों को जन्म दिया, उससे 4 घंटे पहले वो अपने स्टोर में काम कर रही थी। लेकिन अचानक उसके पीठ में दर्द होने लगा। इससे पहले भी कई बार उसे दर्द उठा था, लेकिन उसने इसे प्रेग्नेंसी से बिल्कुल नहीं जोड़ा था। महिला की पहले से दो संतान है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper