होटल रूम में इस वजह से बिछाई जाती है सफेद चादर, यह है हैरान करने वाली सच्चाई

जब भी आप कहीं घूमने जाते हैं, तो आपको हमेशा होटल के रूम में सबसे पहले अट्रेक्ट करती है, तो वो होता है सफेद चादर से सजा खूबसूरत बेड। लेकिन क्या आपने कभी ये सोचा कि आखिर होटल के रूम्स में हमेशा बेड पर सफेद चादर यानि बेडशीट ही क्यों बिछाई जाती है। अगर नहीं, तो आज हम आपको होटल के बेडरूम के इस अनसुने राज के बारे में बता रहे हैं। होटल के बेडरूम में सफेद चादर बिछाने के वजह….

1. होटल के बेडरूम में सफेद चादर बिछाने की सबसे अहम वजह ये है कि सफेद रंग के संपर्क में आने से मन और दिमाग शांति महसूस करता है। जिससे तनाव में कमी आती है। जिससे आप स्ट्रेस फ्री होकर अपनी वेकेशन्स को इंज्वॉय कर सकें।

2. जब भी हम लोग कहीं घूमने जाते हैं, तो ऐसे में भाग-दौड़ और मौज मस्ती में काफी थक जाते हैं। ऐसे में सफेद रंग आपको रिलेक्स करने में मदद करता है। इसके साथ ही सफेद रंग की चादर पर सोने से नींद सुकून की आती है। जिससे आप अगले दिन के लिए खुद को रिफ्रेश फील करते हैं।

3.होटल के बेडरूम में सफेद चादर बिछाने के पीछे उस पर लगे दागों को आसानी से पहचानने के लिए किया जाता है। क्योंकि आमतौर पर माना जाता है कि सफेद रंग के कपड़ों को धोना आसान नहीं होता है। जबकि एक्सपर्ट की मानें तो रंगीन कपड़ों की तुलना में सफेद रंग के कपड़ों के दागों को पहचानना और धोना आसान होता है। इससिए ही रेल, हवाई यात्रा और होटल्स में सफेद रंग के चादर, तौलिए और रूमाल का इस्तेमाल किया जाता है।

4. होटल के कमरों में सफेद चादर बिछाने के लिए अक्सर ब्लीच का इस्तेमाल किया जाता है। जिससे जिससे चादर के दाग के साथ ही कीटाणुओं भी आसानी से खत्म हो जाते हैं और कपड़ों के रंग खराब होने का डर नहीं रहता।

5. होटल के बेडरूम में सफेद चादर बिछाने की मुख्य वजह है उसका लग्जरी लुक होना। साल 1990 में होटल डिजाइनरों की एक रिसर्च में पाया गया कि सफेद रंग की चादर हाइजीन और लग्जरी लुक वाली दोनों शर्तों पर को बखूबी खरा उतरता है। इसलिए तब से ही होटल्स में सफेद चादर बिछाने का ट्रेंड शुरू हो गया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper