होली खेलते समय रखें ये सावधानियां

नई दिल्ली: रंगों के त्योहार होली को लेकर सभी उत्साहित रहते हैं क्योंकि इस दौरान सभी को एकदूसरे से रंग खेलते का अवसर मिलता है। होली जमकर खेलें पर इस दौरान कुछ सावधानियां भी बरतनी चाहिये नहीं तो रंगों से हानि भी हो सकती है। बाजार में जो रंग आ रहे हैं वह रसायनों से भरे रहते हैं जो आपकी आंखों और अन्य संवेदनशील अंगों को नुकसान पहुंचा सकते हैं। होली खेलने के दौरान अपने शरीर और त्वचा का भी ख्याल रखें। होली खेलने से पहले पर्याप्त तैयारी करेंगे तो आपको रंग निकालने में भी परेशानी नहीं होगी।

अगर आपकी त्वचा शुष्क है तो रंगों से नहीं खेलना चाहिए। होली खेलने से पहले अगर आप अपने पूरे बदन में अच्छी तरह से नारियल के तेल की मालिश करेंगे तो काफी फायदा होगा। इसके अलावा बालों में सरसों का तेल लगाना भी जरूरी है ताकि बाद में नहाते समय रंगों को आराम से छुड़ाया जा सके। अगर आप ज्यादा समय तक धूप में होली खेलते हैं तो कभी भी सनस्क्रीन लगाना ना भूलें। इसके अलावा आप अपने नाखून में गाढ़े रंग की नेलपेंट भी लगा सकते हैं। अक्सर देखा गया है कि अगर एक बार रंग नाखून में लग जाए तो उसे छुड़ाना बहुत कठिन हो जाता है।

इसके अलावा आंखों का विशेष ध्यान रखने की खास आवश्यकता है। हमारी आंखें काफी संवेदनशील होती हैं और रंगों के रसायन की वजह से उन्हें नुकसान हो सकता है। इस दौरान हम आंखों में अगर सनग्लासेज लगा के रखें तो हम आंखों को नुकसान पहुंचने से बचा सकते हैं। अगर होली खेलते समय शरीर में कहीं पर भी चोट लग जाती है तो उसे अनदेखा न करें तुरंत उस जगह पर एंटिबेक्टीरियल लोशन लगाकर उसपर बैंडेज लगा दें।

रंगों में भारी मात्रा में रसायनों की मिलावट की जाती है। इसमें ये पता लगा पाना बहुत मुश्किल होता है कि कौन सा रंग सही है। इस सिलसिले में जरूरी यही होगा कि आप हर्बल रंगों का इस्तेमाल करें, या हो सके तो घर में खुद ही रंग बना लें। इसके अतिरिक्त ये ध्यान देने की भी जरूरत है कि ज्यादा देर तक गीले कपड़ों में ना रहें और समय-समय पर अपना हाथ धोते रहें।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper