होली में बिना अनुमति डीजे बजाया तो जाएंगे जेल

लखनऊ: त्योहार के दौरान शांतिपूर्ण व्यवस्था बनी रहे इसके लिए असामाजिक तत्वों के खिलाफ कड़े कदम उठाने के लिए अधिकारियों ने कमर कस लिया है। होली में शराब का अवैध कारोबार खूब फलता-फूलता है इसके लिए पुलिस को सघन तलाशी अभियान चालाने को कहा गया है, वहीं जिला प्रशासन ने भी खास इंतजाम किये हैं। होली पर्व पर बिना अनुमति डीजे या साउंड बजाने पर कार्रवाई होगी साथ ही आरोपित को जेल की हवा भी खानी पड़ सकती है।

हालांकि बाजारखाला, चौक, ठाकुरगंज, तालकटोरा, सआदतगंज, हजरतगंज, महानगर, मड़ियांव सहित सभी थाना क्षेत्रों से अब तक 50 से अधिक आवेदन आ चुके हैं। यह अनुमति एडीएम और एसडीएम स्तर पर जारी हो रही है। महिलाओं की सुरक्षा को देखते हुए एसपी पश्चिम ने कहा कि किसी भी महिला को जबरन रंग लगाने की शिकायत पर आरोपी के खिलाफ छेड़खानी का मुकदमा दर्ज किया जाएगा। एडीएम पश्चिम एवं आबकारी नोडल अधिकारी संतोष कुमार वैश्य ने बताया कि दो मार्च को शराब की सभी दुकानें बंद रहेंगी।

बिना अनुमति के जुलूस और डीजे, साउंड बजाने पर पूरी तरह से रोंक है। निर्धारित आवाज में ध्वनि विस्तारक यंत्रों का प्रयोग मान्य है। त्योहार के दौरान उपद्रव और हुड़दंग से निपटने के लिए धारा 144 लागू रहेगी। जो भी कानून का उल्लघंन करेगा उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई होगी।संवेदनशील जगहों पर विशेष चौकसी : अधिकारियों ने बताया कि चौक, सआदतगंज, ठाकुरगंज, अमीनाबाद, बाजारखाला, मड़ियांव, बीकेटी, हजरतगंज सहित कई जगहों पर बीते वषों के दौरान हुई घटनाओं की जानकारी ली गई है।

इसी आधार पर उन जगहों को ब्लैक स्पॉट चिह्नित करते हुए विशेष चौकसी बरतने के आदेश दिए गए हैं। कई बार इन जगहों पर जुलूस के नाम पर या डीजे साउंड को लेकर विवाद हो चुका है। इसलिए प्रशासनिक अधिकारी कोई रिस्क नहीं लेना चाहते हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper