₹110 प्रतिमाह देने पर हर महीने मिलेगी ₹3000 की पेंशन, कैसे उठाएं मोदी सरकार की इस योजना का लाभ

अगर आप भी रिटायरमेंट के बाद अपनी पेंशन को लेकर प्लानिंग करना चाहते हैं तो आप प्रधानमंत्री श्रम योगी मान-धन योजना में निवेश कर सकते हैं. यह योजना मोदी सरकार ने 2019 में लॉन्च की थी. असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले व्यक्ति को इस योजना के तहत 60 साल के बाद ₹3000 की मासिक पेंशन मिलेगी.

इस योजना के तहत आपको हर महीने ₹110 का निवेश करना होगा. 60 साल तक नियमित रूप से आपको निवेश करना होगा जिसके बाद आपको कम से कम ₹3000 की न्यूनतम मासिक पेंशन मिलेगी. अगर पेंशन धारक की मृत्यु हो जाती है तो आधी रकम पति-पत्नी को मिलती है.

कैसे उठाएं योजना का लाभ

यह योजना रिक्शा चालक, फेरीवाले, मजदूर, घरेलू सहायक, छोटे स्टोर संचालक आदि के लिए है. इसके लिए आपको रजिस्ट्रेशन करना होगा. 18 साल से 40 साल तक की उम्र का कोई भी व्यक्ति इस योजना में निवेश कर सकता है. लेकिन उसकी मंथली इनकम ₹15000 होनी चाहिए. इस योजना का लाभ वही लोग ले सकते हैं जो टैक्सपेयर्स में शामिल नहीं है.

इस योजना के लिए आपका आधार कार्ड और जन धन अकाउंट नंबर होना जरूरी है. आप इस योजना के लिए नजदीकी सीएससी सेंटर जाकर रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं. आप अधिक जानकारी के लिए https://locator.csccloud.in/ वेबसाइट पर जाकर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

योजना से बाहर निकलने के लिए नियम

अगर आप इस योजना से 10 साल से पहले बाहर निकलना चाहते हैं तो आपने जो भी निवेश किया है, वह रकम बैंक की ब्याज मिलाकर बचत खाते में पैसे ट्रांसफर कर दिए जाएंगे.

10 साल के बाद या 60 साल की उम्र पूरा होने से पहले अगर आप योजना से बाहर निकालना चाहते हैं तो आपको पूरा पैसा बैंक ब्याज दर के साथ वापस कर दिया जाएगा.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper