दिल्ली में कोरोना वायरस के 24 घंटे में 1075 केस, मौतों में 44 प्रतिशत की गिरावट हुई

नई दिल्ली: दिल्ली में कोरोना वायरस के मामलों में पहले की तुलना में भारी अंतर देखने को मिल रहा है। कोरोना के मरीज तेजी से ठीक हो रहे हैं। वहीं, नए केस भी पहले से काफी कम आ रहे हैं। दिल्ली में रविवार को कोरोना वायरस के 1075 नए मामले सामने आए हैं। वहीं, एक दिन में कोरोना वायरस की चपेट में आने से 21 मरीजों की मौत हुई है।

देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस के कुल मरीजों की संख्या 1,30,606 हो गई है। दिल्ली में कोरोना वायरस से मरने वालों की कुल संख्या 3827 हो गई है। दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार, रविवार को दिल्ली में 1807 कोरोना मरीज ठीक हुए हैं। अब तक दिल्ली में कुल 1,14,875 मरीज कोरोना वायरस को मात दे चुके हैं। दिल्ली में अब भी कोरोना वायरस के 11,904 ऐक्टिव केस हैं।

मौतों में 44 प्रतिशत की गिरावट हुई
देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस से मरने वाले लोगों की संख्या में भारी गिरावट देखने को मिली है। दिल्ली सरकार के एक विश्लेषण के अनुसार, मौतों में 44 प्रतिशत की गिरावट हुई है। दिल्ली सरकार की ओर से जारी एक बयान के अनुसार, दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग
1 से 12 जून और 1 से 12 जुलाई के बीच कोरोना वायरस के कारण हुई मौतों का विश्लेषण किया है। इस विश्लेषण के अनुसार, दिल्ली में 1 से 12 जून के दौरान कोरोना वायरस से 1089 मरीजों की मौत हुई है। वहीं, दिल्ली 1 से 12 जुलाई के दौरान कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 605 है। इस विश्लेषण के जरिए कोरोना से होने वाली मौतों में 44 प्रतिशत की गिरावट का पता चला है।

12 हजार बेड अब भी खाली
दिल्ली में प्राइवेट और सरकार अस्पताल मिलाकर कोविड के लिए 15,475 बेड हैं। सरकार का कहना है कि इनमें से 12,340 बेड यानी करीब 78 फीसदी बेड खाली हैं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा दिल्ली में दो करोड़ लोग रहते हैं और केंद्र सरकार, राज्य सरकार ने मिलकर यह सफलता हासिल की है। हालांकि अभी लड़ाई खत्म नहीं हुई है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper