12 पुलिसकर्मियों पर FIR दर्ज करने का आदेश, सैन्यकर्मी को फर्जी मुठभेड़ में मारने का मामला

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ की एक अदालत ने सेवानिवृत्त सेना के जवान की फर्जी मुठभेड़ में हत्या किये जाने के आरोप में 12 पुलिस कर्मियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज किये जाने के आदेश दिये हैं। परमवीर चक्र विजेता मनोज पांडेय की बटालियन से सेवानिवृत्त हुये जागेश्वर को वर्ष 2008 में एक पुलिस मुठभेड़ में मार दिया गया था। जवान की विधवा मंजू देवी पिछले दस सालों से स्थानीय अदालत में न्याय की गुहार लगा रही थी।

अदालत ने गुरूवार को एक आदेश में आरोपी 12 पुलिस कर्मियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 302 के तहत प्राथमिकी दर्ज करने को कहा। आरोपी पुलिस वालों के खिलाफ काकोरी थाने में एफआईआर दर्ज की गयी है। इस बारे में मंजू देवी ने कहा कि सेना से अवकाश ग्रहण करने के बाद उसका पति ट्रक चलाने लगा था। इस बीच पडोसियों की साजिश के चलते उनका नाम कई आपराधिक वारदातों में घसीटा गया। सैन्यकर्मी की पत्नी ने कहा कि इसी सिलसिले में उसके पति को हत्या के मामले में आरोपी बनाया गया और पुलिस ने 14 अक्टूबर 2008 को सरोजनीनगर क्षेत्र में एक फर्जी मुठभेड़ में मार दिया था।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper