120 फीट गहरे बोरवेल में रात भर सिसकियां भरता रहा मासूम, 17 फीट पर तोड़ा दम

तेलंगाना: बुधवार की रात तेलंगाना के मेदक में बोरवेल में एक तीन साल के मासूम के गिरने की घटना सामने आई थी। 120 फिट गहरे बोलवेल में बच्चे के गिरने की सूचना पाते ही जिलाधिकारी समेत एनडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंची, लेकिन बच्चे को बचाया नहीं जा सका। लगभग 12 घंटे तक मेदक में बच्चे को सुरक्षित निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन चलता रहा। बता दें कि करीब 120 फीट के गहरे बोरवेल में गिरा मासूम 17 फीट पर ही फंस गया था।

जिलाधिकारी के धर्मा रेड्डी ने कहा यह बहुत ही दुखद है कि बच्चे को बचाया नहीं जा सका। उन्होंने कहा कि मासूम की बॉडी निकाल ली गई है और अस्पताल भेजा गया है। उन्होंने कहा कि मेदक में घटना स्थल पर तीन बोरवेल किए गए थे जिनकी इजाजत प्रशासन से नहीं ली गई थी। उन्होंने कहा कि इसके खिलाफ जरूरी कार्रवाई की जाएगी।

एक अधिकारियों ने बताया कि बोरवेल में साई वर्धन को ऑक्सीजन पहुंचाने के लिए जब पाइप बोरवेल में छोड़ा गया तो वह 17 फूट पर ही रुक गया। पुलिस और अधिकारियों को उम्मीद थी कि बच्‍चे को सही सलामत जल्‍द ही निकाल लिया जाएगा। रात होने पर इस बोरबेल के चारो ओर लाइट का प्रबंध कर मासूम बच्‍चे को बचाने का अभियान चलाया गया, लेकिन आज सुबह बच्चे को मृत अवस्था में बाहर निकाला गया।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार अनुसंगारेड्डी जिले के पटनचेरू निवासी मंगली गोवर्धन-नवीना का तीसरा बेटा साई वर्धन चार महीने पहले पोड्चनपल्ली गांव स्थित के यहां अपने परिवार के साथ आया था। साई वर्धन अपने मामा और परिवार के साथ जमीन देखने के लिए गया था तभी वहां खेलने के दौरान खुले बोरवेल में गिर गया। मां बाप के सामने ही बच्‍चा बोरवेल में गिर गया और वो कुछ नहीं कर पाए।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper