16 साल के बच्चे ने की मां और बहन की हत्या, वजह जानकर रह जायेंगे हैरान

ग्रेटर नोएडा: एक महिला और उसकी 11 वर्षीय बेटी की हत्या की बात महिला के 16 वर्षीय बेटे ने कबूल कर लिया है। महिला के बेटे ने कहा कि उसने पिज्जा कटर से दोनों की हत्या की, क्योंकि घर पर एक छोटे-से मुद्दे को लेकर उसकी पिटाई की गई थी। नोएडा पुलिस के वरिष्ठ अधीक्षक लव कुमार ने मीडिया को बताया कि चार दिसंबर को हुई हत्या के मामले में मुख्य संदिग्ध नाबालिग को शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के मुगलसराय से हिरासत में लिया गया। नाबालिग ने वहां से अपने पिता को फोन किया था।

ग्रेटर नोएडा पश्चिम में स्थित गौर सिटी के 11वें एवेन्यू के 1446 ए ब्लॉक फ्लैट में मंगलवार रात 42 वर्षीय महिला और उनकी बेटी को मृत पाया गया था। खून से लथपथ दोनों के शव को घर के बेडरूम से बरामद किया गया। जब यह अपराध हुआ, उस समय नाबालिग के पिता अपने व्यवसाय के सिलसिले में शहर से बाहर थे। पुलिस ने कहा कि इस अपराध में किसी अन्य व्यक्ति के शामिल होने की संभावना नहीं है। लड़के द्वारा कबूल की गई कहानी को याद करते हुए, कुमार ने कहा कि नाबालिग ने अपनी मां और बहन पर एक बल्ले से हमला किया और फिर उन्हें मारने के लिए छोटी कैचियों और पिज्जा कटर का इस्तेमाल किया।

उसने पुलिस को बताया कि हत्या को अंजाम देने के तुरंत बाद वह बैग में कुछ रुपये लेकर एक कैब से नई दिल्ली रेलवे स्टेशन गया, जहां से वह लुधियाना, चंडीगढ़, शिमला और फिर चंडीगढ़ गया। वहां से नाबालिग रांची गया और फिर मुगलसराय, जहां उसे हिरासत में ले लिया गया। कुमार ने कहा कि लड़का जितना समझ सकता था, उसने उतना पैसा खर्च किया और शायद जल्दबाजी में वह किसी स्टेशन पर रुपयों से भरे बैग को छोड़ दिया। उसने शायद बिना टिकट के ही यात्रा की।

पुलिस अधिकारी ने कहा कि मामला यह दिखाता है कि एक बच्चे के मनोविज्ञान को समझना कितना मुश्किल था, जो यह मानता था कि उसकी बहन के कारण उसके साथ भेदभाव किया जा रहा है। कुमार ने कहा कि शायद वह पढ़ाई में भी कमजोर था और उसे इसमें ज्यादा दिलचस्पी नहीं थी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper