164 करोड़ से बरेली मंडल में 24 घंटे दौड़ेगी बिजली । व्यवस्था दुरुस्त करने, क्षमता वृद्धि और नए उपकेंद्र बढ़ाने के लिए शासन ने जारी किया बजट

बरेली ,13 जनवरी । मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शहरों को 24 घंटे बिजली देने की दिशा में सार्थक प्रयास शुरू हो गए हैं। शासन ने बरेली मंडल को 164 करोड़ रुपये जारी किए हैं। इससे बरेली मंडल के चारों जिलों में निर्बाध 24 घंटे बिजली की आपूर्ति की जाएगी। चीफ इंजीनियर राजीव शर्मा ने बरेली, पीलीभीत, शाहजहांपुर एवं बदायूं के इंजीनियरों को निर्देश दिए हैं। उन्होंने लाइन लाँस कम करने ट्रांसफार्मर की क्षमता वृद्धि करने और नए उप केंद्र बढ़ाने के भी निर्देश दिए हैं। इससे कि 24 घंटे बिजली आपूर्ति करने में किसी भी तरह की दिक्कत न हो इसके अलावा उन्होंने मार्च, 2025 तक लाइन लॉस 12 से 13 प्रतिशत करने का लक्ष्य रखा है।

बरेली मंडल में पुरानी हो चुकी जर्जर लाइने, बड़े बिजलीघर और ट्रांसफार्मर बदलने के लिए केंद्र सरकार की रिवर एंड डिस्ट्रीब्यूशन सेक्टर स्कीम के तहत बरेली मंडल को 820 करोड़ रुपये जारी किए गए हैं। इसमें बरेली जिले को 347.96 करोड़, शाहजहांपुर, पीलीभीत और बदायूं को 472.38 करोड़ रुपये जारी किए गए हैं। 2025 तक सभी तरह के लाइन लॉस नुकसान 25 प्रतिशत से 12.6 प्रतिशत करने का लक्ष्य रखा गया है। इसके अलावा बिजली के बिलों का कलेक्शन और बिलिंग 95% तक करने का टारगेट दिया गया है।

बरेली मंडल की बिजली व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए केंद्र सरकार ने यूनिवर्सल एमईपी प्रोजेक्ट एंड इंजीनियरिंग सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड, मुंबई को इसकी जिम्मेदारी सौंपी है। कंपनी के प्रोजेक्ट मैनेजर अलप्पा नायडू ने चीफ इंजीनियर राजीव शर्मा से बातचीत कर बरेली मंडल की बिजली व्यवस्था को लेकर विस्तार से चर्चा की। कंपनी उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन लिमिटेड के साथ मिलकर बरेली मंडल में नई लाइनें डालने से लेकर ट्रांसफार्मर की क्षमता वृद्धि, अंडरग्राउंड लाइन पर तेजी से काम करेगी। इससे कि मंडल में नया इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार कर फाल्ट को कम किया जा सके और लोगों को भरपूर बिजली मिल सके।

चीफ इंजीनियर राजीव शर्मा ने बताया कि यूनिवर्सल कंपनी की ओर से 18 जनवरी से बरेली, पीलीभीत, शाहजहांपुर और बदायूं में सर्वे का काम शुरू किया जाएगा। कंपनी की टीम शहर से लेकर देहात तक सर्वे करने जाएगी। टीम किन जगहों पर बिजली की क्या समस्याएं हैं। इनका सर्वे कर अपनी रिपोर्ट देगी। इसके बाद प्रस्ताव तैयार किया जाएगा। सर्वे रिपोर्ट के आधार पर बिजली व्यवस्था को दुरुस्त करने की कवायद की जाएगी।

बरेली से ए सी सक्सेना की रिपोर्ट

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-----------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper